स्पाइसजेट पर डीजीसीए की बड़ी कार्रवाई, 50% उड़ानों पर लगी रोक

नई दिल्ली। विमानों पर निगरानी रखने वाले जांच नियामक डीजीसीए ने स्पाइसजेट पर बड़ी कार्रवाई की है। डीजीसीए के आदेश के मुताबिक स्पाइसजेट को इस गर्मी में जितनी उड़ान भरने की अनुमति मिली थी, अब उनमें से कंपनी को 50 प्रतिशत विमानों का ही संचालन करना होगा। पिछले महीने की 19 तारीख से स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी खराबी आने की कम से कम आठ घटनाओं को लेकर डीजीसीए ने एयरलाइन को छह जुलाई को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

डीजीसीए ने अपने आदेश में कहा कि विभिन्न स्थलों की जांच, निरीक्षण और स्पाइसजेट की ओर से जमा कराए गए “कारण बताओ नोटिस” के जवाब के मद्देनजर, सुरक्षित और विश्वसनीय परिवहन सेवा के निरंतर निर्वाह के लिए, स्पाइसजेट की गर्मियों के लिए स्वीकृत उड़ानों की संख्या आठ हफ्तों तक 50 फीसदी पर सीमित की जाती है।

स्पाइसजेट ने कहा कोई उड़ान रद्द नहीं होगी

डीजीसीए की इस कार्रवाई पर स्पाइसजेट ने कहा है कि इस आदेश के परिणामस्वरूप कोई उड़ान रद्द नहीं होगी. स्पाइसजेट ने यह भी कहा, हम डीजीसीए के आदेश का अवलोकन कर रहे हैं और नियामक के निर्देशों के अनुसार काम करेंगे. यात्रा के लिहाज से नीरस मौसम में स्पाइसजेट ने अन्य एयरलाइनों की तरह अपने उड़ान संचालन को पहले ही पुनर्निर्धारित कर दिया था। इसलिए, हमारे उड़ान संचालन पर बिल्कुल कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

सुरक्षित और विश्वसनीय सेवा देने में नाकाम

इससे पहले डीजीसीए ने अपने आदेश में कहा कि स्पाइसजेट पिछले कुछ समय से सुरक्षित और विश्वसनीय सेवा देने में नाकाम रही है। हालांकि एयरलाइन इस तरह की गड़बड़ियों को रोकने का उपाय कर रही है लेकिन इसके लिए उसे काफी कुछ करने की जरूरत है। डीजीसीए ने कहा कि विभिन्न स्थलों की जांच, निरीक्षण और स्पाइसजेट की ओर से जमा कराए गए कारण बताओ नोटिस के जवाब के मद्देनजर, सुरक्षित और विश्वसनीय परिवहन सेवा के निरंतर निर्वाह के लिए, स्पाइसजेट की गर्मियों के लिए स्वीकृत उड़ानों की संख्या आठ हफ्तों तक 50 फीसदी पर सीमित की जाती है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button