नेशनल डेस्क। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज जन्मदिन है। इस मौके पर मोदी का उपहार देश के लिए ऐतिहासिक होने वाला है, क्योंकि 74 साल बाद देश में चीतों की वापसी होने जा रही है। बता दें कि साल 1948 में देश से चीता विलुप्त हो गया था और अब भारत की विरासत को दोबारा स्थापित किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चीतों का स्वागत करने मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क जाएगे। इसी पार्क में नामीबिया से लाए जा रहे 8 चीतों को रखा जाएगा।

प्रधानमंत्री का कूनो का कार्यक्रम

प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी कार्यक्रम के मुताबिक, पीएम मोदी सुबह 9 बजकर 20 मिनट पर ग्वालियर एयरपोर्ट पर पहुंचे है। इसके बाद वह श्योपुर जिले में स्थित कूनो नेशनल पार्क के लिए रवाना हो जाएंगे। ये दूरी लगभग 165 किलोमीटर की है।इसके बाद वह चीतों को रिलीज किए जाने की पहली साइट पर लगभग 10 बजकर 30 मिनट पर पहुंचेंगे और दूसरी साइट पर 10 बजकर 45 मिनट पर चीतों को छोड़ेंगे।

नामीबिया से आ रहे चीतों में 5 मादा और 3 नर हैं। ये चीते एक स्पेशल जंबो जेट से पहले सवेरे 6 बजे ग्वालियर पहुंचेंगे। उसके बाद वायुसेना के हेलीकॉप्टर उन्हें कूनो नेशनल पार्क तक लाएंगे। इन चीतों को शुरुआत में एक स्पेशल बाड़े में रखा जाना है। वो इस बाड़े में कुछ वक्त के लिए क्वारंटीन रहेंगे, उसके बाद उन्हें खुले जंगल में छोड़ा जाएगा। पीएम मोदी पिंजड़े का लीवर खींचकर इन चीतों को इसी बाड़े में छोड़ने वाले हैं। चीतों को छोड़ने के बाद पीएम मोदी यहां एक इंटरेक्शन में भाग लेंगे।