रिपोर्ट बनाने के लिए मांग रहा था 40 हजार, ACB की टीम ने रिश्वत लेते हुए उप अभियंता और दलाल को किया गिरफ्तार

रायपुर। सरकारी अधिकारियों में लालच इस कदर हावी है कि उन्हें सजा का भी डर नहीं है। एसीबी (Anti Corruption Bureau ACB) की टीम शिकायत पर कार्रवाई जरूर कर रही है। मगर रिश्वतोखोर अधिकारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आते।

ताजा मामला जांजगीर जिले का है जहां बिलासपुर एसीबी (Anti Corruption Bureau) की टीम ने जनपद पंचायत अकलतरा में उप अभियंता के पद पर पदस्थ अधिकारी और दलाल को 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के मुताबिक अकलतरा निवासी राजेश कुमार कोसले की पत्नी पूर्व पंचायत के कार्यकाल के दौरान मुड़पार गांव की सरंपच थी। उनके कार्यकाल तहत होने वाले कार्यों के मूल्यांकन रिपोर्ट बनवाने के लिए जनपद पंचायत अकलतरा के उप अभियंता सुमित राजपूत के पास पहुंचा। तभी पीड़ित का सामना दलाल राजकुमार रात्रे से हुआ। इसके बाद अधिकारी सुमित राजपूत ने मूल्यांकन रिपोर्ट बनाने के लिए 40 हजार रुपए रिश्वत की मांग की।

इस पूरे मामले की सूचना राजेश ने बिलासपुर एसीबी (ACB) को दी। एसीबी की टीम ने मामले को गंभीरता लेते हुए पूरा जाल बिछाया और पहली किस्त की राशि 20 हजार रुपए लेते उप अभियंता सुमित राजपूत और दलाल राजकुमार रात्रे को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई एसीबी के निदेशक एवं पुलिस उप महानिरीक्षक आरिफ शेख और पुलिस अधीक्षक पंकज चंद्रा के दिशा निर्देश पर हुई है। गिरफ्तार आरोपी उप अभियंता सुमित राजपूत बलौदाबाजार जिले के कोदवा गांव और दलाल राजकुमार रात्रे बिलासपुर जिले के पेंड्री गांव के निवासी है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।

Leave a Reply