IPL बीच में छोड़कर स्वदेश लौटे ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर एंड्रयू टाई बोले- भारत में लोगों को ईलाज के लिए नहीं मिल रहा अस्पताल और हम क्रिकेट खेल रहे…

टीआरपी डेस्क। ऑस्ट्रेलिया और राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई ने भारत में कोरोना मामलों के बढ़ने के कारण अपने देश में प्रवेश निषेध होने की आशंका से आईपीएल बीच में ही छोड़ दिया और दावा किया कि ऑस्ट्रेलिया के कई क्रिकेटर यह फैसला ले सकते हैं। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के

 
टाई ने कहा कि उनके गृहनगर पर्थ में भारत से जाने वालों के पृथकवास के बढ़ते मामलों के कारण उन्होंने यह फैसला लिया। टाई ने रॉयल्स के लिए अब तक एक भी मैच नहीं खेला है और उन्हें एक करोड़ रुपये में खरीदा गया था।

ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करने वालों की संख्या में कटौती करने की कोशिश

टाई ने सोमवार को दोहा से ‘सेन रेडियो’ से कहा, ‘इसके कई कारण हैं, लेकिन मुख्य कारण यह है कि पर्थ में भारत से लौटने वाले लोगों के होटलों में पृथकवास के मामले बढ़ गए हैं। पर्थ ने कहा कि सरकार पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करने वालों की संख्या में कटौती करने की कोशिश में है.’।

बायो बबल में रहने की थकान भी एक कारण

उन्होंने कहा कि बायो बबल में रहने की थकान भी एक कारण है. उन्होंने कहा,‘मैंने सोचा कि देश में प्रवेश नहीं मिले, उससे पहले ही रवाना हो जाऊं. बबल में लंबा समय बिताना काफी थकाऊ है. अगस्त से अब तक मैं सिर्फ 11 दिन बबल से बाहर रहा हूं और अब घर जाना चाहता हूं.’

ब्रिटेन और न्यूजीलैंड समेत कई देशों ने भारत से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है. ऑस्ट्रेलिया ने भी उड़ानों में 30 प्रतिशत कटौती कर दी है और आगे प्रतिबंध की आशंका है. भारत में पिछले कुछ दिनों से तीन लाख मामले रोज आ रहे हैं।

कई और खिलाड़ियों ने किया संपर्क

उन्होंने कहा, ‘चिंता तो है. मेरे लौटने की बात पता चलते ही कई ने संपर्क किया. उन्होंने पूछा कि मैं किस रास्ते से जा रहा हूं. भारत में रोज तीन लाख से ज्यादा मामले आ रहे हैं और ये वो मामले हैं जो आधिकारिक है. शायद आंकड़ा इससे भी अधिक हो.’


टाई ने कहा, ‘आईपीएल और बीसीसीआई ने हमें सुरक्षित रखा है, लेकिन कोरोना से जूझ रहे लोगों को देखकर बुरा लगता है और हम क्रिकेट खेल रहे हैं.’

टाई ने कहा, ‘एक खिलाड़ी के रूप में हम सुरक्षित हैं लेकिन क्या यह आगे सुरक्षित रहने वाला है?’ उन्होंने आगे कहा, ‘ये कंपनियां और फ्रेंचाइजी इतने पैसे कैसे खर्च कर रहीं हैं, जबकि लोग असुविधाओं के चलते अस्पतालों में भर्ती भी नहीं हो पा रहे हैं।’

तेज गेंदबाज ने कहा, ‘यदि इस खेल से लोगों के जीवन में तनाव दूर होता है या उन्हें इस बात की आशा देता है कि दुनिया में सब कुछ ठीक है और गहरी सुरंग में भी रोशनी है, तो मैं समझता हूं कि आईपीएल जारी रहे, लेकिन मैं जानता हूं कि सभी एक जैसे नहीं हैं।