मजदूरों की प्रताड़ना का मामला : जांजगीर कलेक्टर की पहल पर तत्काल हुई कार्रवाई, मजदूरों को कराया भुगतान और सुरक्षित वापसी का किया इंतजाम

मजदूरों की प्रताड़ना
मजदूरों की प्रताड़ना का मामला : जांजगीर कलेक्टर की पहल पर तत्काल हुई कार्रवाई

रायपुर। कश्मीर के अनंतनाग जिले में प्रताड़ना का शिकार हो रहे मजदूरों को जांजगीर के कलेक्टर की पहल पर तत्काल राहत मिल गई है। उनकी सूचना पर अनंतनाग जिले के कलेक्टर ने वहां के श्रम अधिकारी को मौके पर भेजकर मजदूरों को उनका मेहनताना दिलवाया और उनकी सुरक्षित वापसी का इंतजाम करवाया।

खबर पर जांजगीर कलेक्टर ने तत्काल की पहल

TRP NEWS ने अनंतनाग जिले के बुनी गांव में प्रताड़ना का शिकार हो रहे मजदूरों से बातचीत के बाद उनकी खबर का प्रकाशन किया, इस बीच जांजगीर कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने TRP के संवाददाता को बताया कि उन्होंने मामले की जानकारी मिलते ही अनंतनाग के कलेक्टर पीयूष सिंघला से संपर्क कर मामले की जानकारी देते हुए कार्रवाई का अनुरोध किया। पीयूष सिंघला ने भी जानकारी मिलते ही जिले के सहायक श्रम आयुक्त को तत्काल कार्रवाई का आदेश दिया है। जितेंद्र शुक्ला ने उम्मीद जताई कि मामले में जल्द ही कार्रवाई होगी।

कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला
कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला

मजदूरों ने सुनाई खुशखबरी

इधर जांजगीर कलेक्टर ने मामले की जानकारी दी और उधर से इस संवाददाता को मजदूर देवकुमार का फोन आ गया। देव ने बताया कि जिले के श्रम अधिकारी पीर जमीर आये थे, उन्होंने तत्काल ईंट भट्ठे के मालिक को बुलवाया और सभी मजदूरों का भुगतान करवाया और बस का इंतजाम करवाकर मजदूरों को जम्मू तक पहुंचवाया। यहां से सौ से भी अधिक लोग वापस लौट रहे हैं। मजदूरों ने ख़ुशी का इजहार करते हुए जांजगीर और अनंतनाग जिले के कलेक्टर्स का आभार जताया है।

इधर जांजगीर जिले के सहायक श्रम आयुक्त डॉ के के सिंह ने बताया कि मजदूरों के जम्मू तक आने का इंतजाम करवाया जा रहा है. उन्होंने यह भी बताया कि जांजगीर जिले के 260 मजदूर भट्ठे में काम कर रहे थे। इनमे से जो परिवार वापस आना चाह रहे हैं उनका तत्काल भुगतान करवाया गया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर