स्टिंग कर करता था ब्लैकमेल इसलिए गिरफ्तार हुआ फिरोज सिद्दकीः पुलिस

रायपुर। पुलिस ने बहुचर्चित अंतागढ़ टेपकांड (Antagarh Tape Case) के मुख्य गवाह फिरोज सिद्दीकी (Firoz Siddqui) के अलग-अलग तीन ठिकाने पर छापा मार कार्रवाई की है। तेलीबांधा इलाके में फिरोज के दूसरे फ्लैट में भी पुलिस बल तलाशी लेने पहुंची। घर से सीडी और अन्य सामान जब्त किए गए हैं। बता दें कि फिरोज सिद्दीकी के राजनांदगांव के चिचौला, माना, तेलीबांधा सहित अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की गई है।

ब्लैकमेल करता था फिरोज सिद्दकी

फिरोज सिद्दीकी (Firoz Siddqui) के अलग-अलग ठिकानों में छापेमारी की कार्रवाई को लेकर एसएसपी आरिफ शेख की प्रेस कॉंफ्रेंस की है। उन्होंने बताया कि 29 जुलाई को पप्पू फरिश्ता ने सूचना दी कि फिरोज लगातार धमकी दे रहा है। ब्लैकमेल कर 1 करोड़ 90 लाख रुपए की मांग की गई। जिस पर पप्पू फरिश्ता ने फिरोज को 25 लाख रुपए दिया है। उसके पास इस लेनदेन के एविडेंस है। फिरोज रसूखदार लोगों से बातचीत का वीडियो वायरल कर धमकी देता था। पुलिस ने 384 का अपराध दर्ज कर गिरफ्तार किया है।

एसएसपी ने बताया कि फिरोज (Firoz Siddqui) बड़े लोगों का स्टिंग कर ब्लैकमेल करता था। घर से जितनी चीजें जब्त की गई हैं, उसका आंकलन किया जा रहा है। यह मामला जुलाई 2018 का है। पुलिस के संज्ञान में आया तो कार्रवाई की गई है, जांच में पता चलेगा की सीडी किसकी थी।

अंतागढ़ मामला अलग है

पुलिस ने जानकारी दी कि अंतागढ़ (Antagarh Tape Case) मामला अलग है इस मामले में उसका कोई संबंध नहीं है। पप्पू फरिश्ता को अपने जान का डर था इसलिए उसने एक साल बाद शिकायत दर्ज कराई है। रात में दबिश देने की बात को लेकर पुलिस ने कहा कि आरोपी के फरार होने के फिराक में था इसलिए रात को एक बजे दबिश दी गई थी। फिरोज सिद्दीकी के घर से कंप्यूटर, सीडी, पेन ड्राइव जब्त की गई है उसकी जांच की जाएगी। इस मामले में जो भी लोग शामिल होंगे उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें और Twitter पर Follow करें
एक ही क्लिक में पढ़ें The Rural Press की सारी खबरें