यहां सरकारी अनदेखी के कारण पानी में डूबा घर, जल समाधि लेने को मजबूर परिवार

टीआरपी डेस्क। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला मुख्यालय में एक परिवार प्रशासन की अनदेखी के कारण जल समाधि लेने को मजबूर हो गया है। परिवार के घर के बगल में मौजूद नाले को मिट्टी से पाट देने के कारण पूरा घर धीरे-धीरे डूबने की कगार पर पहुंच गया है। पीड़ित परिवार ने कई बार अधिकारियों से मदद की गुहार लगाई लेकिन प्रशासन से उन्हें कोई मदद नहीं मिली।

जिससे परेशान परिवार अब जल समाधि लेने की बात कर रहा है। जशपुर के जिलाधिकारी कार्यालय से महज 200 मीटर की दूरी पर पुष्पा यादव अपने परिवार के साथ रहती हैं। उनके घर के बगल में एक नाला था लेकिन नाले की जमीन को अपना बताकर एक शख्स ने उसे मिट्टी से पाटकर बंद कर दिया। जिसके बाद से नाले से बहने वाला पानी धीरे-धीरे उनके घर में घुस रहा है।

पिछले तीन महीनों से लगातार उनके घर में पानी घुसने की वजह से उनके घर में घुटने तक पानी भर गया है। सात सदस्यों का यह परिवार एक कमरे में नारकीय जीवन जीने को मजबूर है। पीड़ित परिवार का कहना है कि पानी भरने की वजह से उनके घर के अंदर सांप और बिच्छू आ जाते हैं और मकान गिरने की कगार पर पहुंच गया है। जिसके कारण उनकी जान को भी खतरा है।

परिवार ने नगर पालिका के लेकर सीएमओ सहित जिले के आला अधिकारियों से मिलकर समस्या के समाधान की बात की लेकिन आज तक उन्हें कोई मदद नहीं मिली है। पुष्पा यादव का कहना है कि उनके पास कोई और जमीन नहीं है। यदि प्रशासन उनकी मदद नहीं करता है तो उनके पास जल समाधि के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा।

इसपर जशपुर के जिलाधिकारी ने कहा, ‘उन्होंने अपनी शिकायत दी है जिसके बाद हमने जशपुर के एसडीएम को वहां भेजा है। जिस जगह में वह रह रहे हैं वह कुछ निर्माण के कारण से निचली सतह वाला हो गया है। हम विचार कर रहे हैं कि क्या किया जा सकता है। पानी निकालने के लिए एक छोटा सा आउटलेट बनाया जाएगा।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।