दुष्कर्म पीड़िता की पहचान कर दी उजागर, 250 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

दुष्कर्म पीड़िता की पहचान कर दी उजागर, 250 के खिलाफ मुकदमा दर्ज
दुष्कर्म पीड़िता की पहचान कर दी उजागर, 250 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

लखनऊ। यूपी के ललितपुर निवासी एक किशोरी ने सपा-बसपा जिलाध्यक्ष समेत 28 लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए बुधवार को झांसी के सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप ने सपाइयों के साथ पैदल मार्च निकाला था।
आरोप है कि इस दौरान सपाइयों ने पीड़िता की पहचान उजागर कर दी, जिसके चलते झांसी के सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप समेत 250 लोगों के पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही इन सभी पर धारा 144 के उल्लंघन का भी आरोप लगाया गया है।

पीड़िता शिकायत पर पिता और सपा जिलाध्यक्ष का भाई गिरफ्तार

सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने नामजद आरोपी पीड़िता के पिता, सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव के भाई अरविंद यादव तथा पीड़िता के दो नामजद रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया है। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दबिश लगातार जारी हैं। इस पूरे घटनाक्रम से ललितपुर की सियासत गरमाई हुई है।

आरोपियों में अधिकांश रिश्तेदार और नेता

थाना कोतवाली में एक किशोरी ने अपने पिता, चाचा, ताऊ के अलावा सपा और बसपा के नेताओं समेत 28 लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। इसकी खबर लगते ही जिले की सियासत में उबाल आ गया। झांसी से सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप के नेतृत्व में भारी संख्या में सपाई ललितपुर पहुंच गए। उन्होंने पैदल मार्च निकाला और डीएम-एसपी को ज्ञापन देकर मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की। इन लोगों का कहना है कि एक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। वहीं, बसपा की ओर से भी प्रशासन के समक्ष यही मांग रखी गई।

इसी बीच शाम को मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़ित किशोरी के बयान दर्ज किए गए। सुरक्षा के लिए किशोरी के घर पर पुलिस तैनात कर दी गई है। पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर