छत्तीसगढ़ में 80 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन के सेकंड डोज का इंतजार, ढाई करोड़ डोज की अब भी जरुरत : TS सिंहदेव

छत्तीसगढ़ में 80 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन के सेकंड डोज का इंतजार, ढाई करोड़ डोज की अब भी जरुरत : TS सिंहदेव
छत्तीसगढ़ में 80 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन के सेकंड डोज का इंतजार, ढाई करोड़ डोज की अब भी जरुरत : TS सिंहदेव

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना के शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए 04 करोड़ डोज लगने हैं, और इनमे से अब तक केवल डेढ़ करोड़ डोज ही लग सके हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया राज्य को बीते दो महीने में 20 – 20 लाख डोज ही मिले, जबकि स्वास्थ्य अमले की क्षमता हर रोज 03 से 05 लाख डोज लगाने की है। अगर टीकों की आपूर्ति इसी तरह होती रही तो शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन में पूरे 12 महीने और लग जायेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने यह जानकारी शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए “मोर जिम्मेदारी” नामक अभियान की शुरुआत करते हुए कही। यह अभियान UNICEF और एकता परिषद द्वारा राज्य के 20 आदिवासी बाहुल्य जिलों में चलाया जायेगा। इसके लिए तैयार रथ को रवाना करने से पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने वैक्सीनेशन को लेकर अनेक महत्वपूर्ण जानकारियां दीं।

कोरोना वारियर्स का ही शत प्रतिशत वैक्सीनेशन नहीं..!

प्रदेश में अब तक हुए वैक्सीनेशन की जानकारी देते हुए टीएस सिंहदेव ने बताया कि फ़िलहाल कोरोना वारियर्स को ही शत प्रतिशत वैक्सीन लग नहीं सका है। उनके मुताबिक कोरोना वारियर्स याने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की संख्या 03 लाख 39 हजार 732 है और इनमे से 03 लाख 09 हजार 993 याने 91% ही कोरोना वैक्सीन लगवा सके हैं, वहीं सेकंड डोज लगवाने वाले हेल्थ वर्कर्स केवल 81% हैं। मगर फ्रंटलाइन वर्कर्स के आंकड़े में बड़ा ही घालमेल है। स्वास्थ्य मंत्री मुस्कुराते हुए बताते हैं कि इनकी संख्या 02 लाख 93 हजार 40 बताई गई थी, मगर 03 लाख 17 हजार 908 फ्रंटलाइन वर्कर्स याने 100% से भी ज्यादा ने अब तक पहला डोज लगवा लिया है। ऐसा कैसे हुआ ये किसी की भी समझ में नहीं आ रहा है।

वैक्सीनेशन का यह है आंकड़ा

छत्तीसगढ़ में 45+ में 93% ने पहला डोज तो 40% लोगों ने ही दूसरा डोज लगवाया है। इसी तरह 18+ में 41% ने पहला डोज और केवल 15% ने ही दूसरा डोज लगवाया है। इस तरह कुल 1 करोड़ 15 लाख 99 हजार 235 लोगों ने पहला तो मात्र 35 लाख 18 हजार 751 लोगों को ही दूसरा डोज लग सका है। स्वाभाविक है कि टीकों की कम आपूर्ति के चलते इतना कम वैक्सीनेशन हो रहा है।

केंद्र से टीके की सप्लाई बढ़ाने पर जोर

टी एस सिंहदेव ने बताया कि अगर बीते महीनों की तरह केवल 20 लाख डोज ही हर माह मिलते रहे तो शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए साल भर लग जायेंगे। हालाँकि सितम्बर महीने के लिए 35 लाख टीके देने की बात कही गई है, मगर इतना डोज भी आने वाले महीनों में मिलता रहा तो भी पूरे लोगों को टीका लगाने में 6 माह लग जायेंगे। हर रोज 03 से 05 लाख डोज लगाने की क्षमता रखने वाले छत्तीसगढ़ में टीकों की आपूर्ति बढ़ेगी तभी सभी सही समय पर टीका लग सकेगा।

स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने किसी भी जिले में विशेष अभियान चलाकर शत-प्रतिशत वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया पर एक बार फिर अपनी असहमति जताई है। उनका मानना है कि जो इलाके कोरोना से ज्यादा प्रभावित रहे वहां ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन करने पर जोर दिया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएपपर