लता मंगेशकर गुरु उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान साहब का निधन, तीनों पद्म अवॉर्ड्स से नवाजे गए थे खान साहब

नेशनल डेस्क। महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का आज 89 वर्ष की आयु में निधन हो गया। रामपुर-सहसवान घराने से ताल्लुक रखने वाले खान साहब को भारत सरकार ने उन्हें 1991 में पद्म श्री, 2006 में पद्म भूषण और 2018 में पद्म विभूषण अवॉर्ड से नवाजा था।

आपको बता दें उस्ताद गुलाम मुस्तफा के शिष्यों में सोनू निगम के अलावा हरिहरन, शान, आशा भोंसले, गीता दत्त, मन्ना डे, एआर रहमान और लता मंगेशकर का नाम भी शुमार है। हाल ही में सोनू ने अपने व्लॉग में उनकी तरह गाते हुए एक वीडियो शेयर किया था।

उनके निधन की खबर आज लता मंगेशकर ने ट्विटर पर साझा की।ट्विटर पर उनकी तस्वीर साझा करते हुए उन्होंने लिखा,”मुझे अभी अभी ये दुखद खबर मिली है कि महान शाष्त्रीय संगीत गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान साहेब इस दुनिया में नहीं रहे। यह सुनके मुझे बहुत दुख हुआ। वो गायक तो अच्छे थे ही पर इंसान भी बहुत अच्छे थे।”

उन्होंने आगे लिखा,”मेरी भांजी ने भी खान साहब से संगीत सीखा है, मैंने भी उनसे थोड़ा संगीत सीखा था। उनके जाने से संगीत की बहुत हानि हुई है। मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं।” उनके अलावा अन्य हस्तियों और गायकों ने भी उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से श्रद्धांजलि अर्पित की है। संगीतकार-गायक विशाल डडलानी ने किखा,”एक और बड़ा घाटा!! उस्ताद मुस्तफा खान साहब अपने आप में एक युग थे। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना, विशेषकर उनके बेटे कादिर भाई और रब्बानी भाई, और उनके शिष्यों के लिए।”

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर…