Home राष्ट्रीय Satellite तस्वीरों से चीन का पर्दाफाश, LAC की और तैनात किए विध्वंसक...

Satellite तस्वीरों से चीन का पर्दाफाश, LAC की और तैनात किए विध्वंसक हथियार और बॉम्बर जेट

348
0
Satellite तस्वीरों से चीन का पर्दाफाश, LAC की और तैनात किए विध्वंसक हथियार और बॉम्बर जेट
Satellite तस्वीरों से चीन का पर्दाफाश, LAC की और तैनात किए विध्वंसक हथियार और बॉम्बर जेट

नई दिल्ली। भारत-चीन के तनाव को कम करने और शांति व स्थिरता कायम करने के चीनी दावों का पर्दाफाश हो गया है। एक बार फिर से चीन की बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है।

दरअसल, जहां एक ओर चीन वास्तिविक नियंत्रण रेखा के विवादित क्षेत्र से सैनिकों के पीछे हटने का दावा कर रहा है, वहीं दूसरी ओर चुपके से पीपल्स लिबरेशन आर्मी सीमा के पास ही अपनी ताकत को बढ़ाने में जुटी है। इस खुलासे के बाद से चीन की नापाक हरकत की पोल खुल गई है।

ताजा सैटेलाइट तस्वीरों से ये खुलासा हुआ है कि चीनी आर्मी लद्दाख के पास में अपनी सीमा पर भारी मात्रा विध्वंसक हथियार और बॉम्बर जेट तैनात कर रही है। तस्वीरों में ये साफ देखा जा सकता है कि चीनी वायुसेना ने LAC के करीब काशगर एयरपोर्ट पर कई बॉम्बर जेट तैनात किए हैं।

सैटेलाइट तस्वीरों से हुआ चीन का खुलासा

बता दें कि ओपन इंटेलिजेंस सोर्स Detresfa की सैटलाइट तस्वीरों से ये खुलासा हुआ है कि चीन सीमा के करीब भारी मात्रा में सैन्य साजो सामान को बढ़ा रहा है। तस्वीर में साफ-साफ दिख रहा है कि काशगर एयरबेस पर रणनीतिक बॉम्बर और दूसरे असेट भी तैनात हैं।

चूंकि काशगर लद्दाख से बेहद करीब है और मौजूदा समय में लद्दाख सीमा पर ही दोनों देशों के बीच तनाव गहराया हुआ है। तस्वीरों से पता चल रहा है चीन ने इस बेस पर 6 शियान H-6 बॉम्बर तैनात किए हैं। इनमें से 2 पेलोड के साथ हैं। इसके अलावा 12 शियान Jh-7 फाइटर बॉम्बर भी तैनात हैं। इनमें भी दो पर पेलोड हैं। इतना ही नहीं, चीनी वायुसेना ने 4 शेनयान्ग J11/16 फाइटर प्लेन भी तैनात किए हैं। इसकी मारक क्षमता यानी कि रेंज 3530 किलोमीटर है।

H-6 बॉम्बर का रेंज 6000 किलोमीटर है

आपको बता दें सीमा पर चीन के साथ बढ़ते गतिरोध को देखते हुए भारत ने तैयारियां शुरू कर दी है और मजबूती के साथ भारतीय सेना मुकाबला करने के लिए तैयार है। इन सबके बीच चीन शांति की अपील के बीच फाइटर जेट्स की तैनाती में जुटा है।

लद्दाख सीमा से काशगर एयरबेस की दूरी 600 किलोमीटर है। पर इस एयरबेस में तैनात H-6 बॉम्बर जेट की रेंज 6000 किलोमीटर है। यह परमाणु हथियार ले जाने में भी सक्षम है। अभी कुछ समय पहले ही चीन ने H-6J और H-6G विमानों के साथ साउथ चाइना सी में ड्रिल की है। ये विमान H-6J सात YJ-12 सुपरसोनिक ऐंटी-शिप क्रूज मिसाइल ले जाने में सक्षम हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन के पास मौजूदा समय में शेनयान्ग विमान के 250 से अधिक यूनिट हैं। यह विमान 2500 किमी प्रतिं घंटे की अधिकतम रफ्तार से उड़ान भर सकता है। बता दें कि भारत-चीन सेना के बीच पांचवें दौर की बैठक होने वाली है, जिसमें सीमा पर जारी तनाव को कम करने और पैंगोंग लेक से चीनी सैनिकों की वापसी को लेकर बातचीत होनी है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi Newsके अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebookपर Like करें, Twitterपर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।