UP Cabinet Expansion: जितिन प्रसाद सहित सात नेता बने मंत्री, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने दिलाई शपथ

UP Cabinet Expansion: जितिन प्रसाद सहित सात नेता बने मंत्री, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने दिलाई शपथ

लखनऊ। यूपी में करीब चार महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ कैबिनेट विस्तार हो गया है। कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए जितिन प्रसाद सहित सात नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली। जितिन प्रसाद (ब्राह्मण) कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वहीं, राज्यमंत्री के रूप में छत्रपाल गंगवार (कुर्मी), पलटूराम (जाटव), संगीता बलवंत बिंद (निषाद), संजीव कुमार गोंड (अनुसूचित जनजाति), दिनेश खटीक (सोनकर), धर्मवीर प्रजापति (प्रजापति समाज), छत्रपाल सिंह गंगवार (कुर्मी) को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

बता दें कि योगी सरकार ने आनन-फानन में जिस तरह से मंत्रिमंडल विस्तार का फैसला लिया है, उसके पीछे कहीं न कहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन के जरिए जाटों की नाराजगी भी अहम वजह है। मंत्रिमंडल में जिस तरह के चेहरे सामने आ रहे हैं और जो तस्वीर उभरकर आ रही है उसमें RSS यानी संघ की छाया साफ दिखाई पड़ रही है।

जितिन इकलौते ब्राह्मण, 3 ओबीसी, 3 दलित

मंत्रिमंडल के लिए जिन चेहरों की चर्चा है, उसमें जितिन प्रसाद इकलौते ब्राह्मण हैं। पिछड़े वर्ग से छत्रपाल गंगवार, संगीता बिंद और धर्मवीर प्रजापति के नाम सामने आ रहे हैं। ऐसे ही अनुसूचित जाति से 3 मंत्री बनाए जा सकते हैं। भाजपा की पहली प्राथमिकता जातीय समीकरणों को साधने की है।

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि 2017 में पार्टी की ऐतिहासिक जीत के पीछे UP का जातीय समीकरण था। पिछले विधानसभा चुनाव में BJP को UP में सभी जातियों का साथ मिला था। पार्टी ने सहयोगी दलों के साथ मिलकर 325 सीटें जीती थीं। कहा जाता है कि BJP की इस बड़ी जीत में गैर यादव OBC का बड़ा हाथ था। UP में OBC करीब 40% हैं। यह यूपी की सियासत में खासा महत्व रखते हैं।

21% दलितों पर ज्यादा फोकस

यूपी में दलित वर्ग कुल आबादी का करीब 21% है। इस लिहाज से ये भी सियासत में काफी मायने रखते हैं। पिछले चुनाव में दलितों ने भाजपा का साथ दिया था। इस बार भी भाजपा इन्हें नाराज नहीं करना चाहती। यही वजह है कि चुनाव से ऐन पहले इन्हें प्रतिनिधित्व देने की तैयारी है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर