वर्चुअल प्रदर्शन: आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार को घेरा, सवाल- हमारे देश के बच्चों के हिस्से की वैक्सीन मोदी ने विदेश क्यों भेज दी?

आम आदमी पार्टी
आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार को घेरा

रायपुर। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने वैक्सीन के अन्य देशों को निर्यात के मसले पर केंद्र की मोदी सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से बचने देश की मात्र दो कम्पनियां वैक्सीन का निर्माण कर रही हैं, जिनकी उत्पादन क्षमता देश की वैक्सीन की जरूरत के मुताबिक फिलहाल काफी सीमित है। इसके बावजूद संसार भर के 93 देशों को वैक्सीन के 6.5करोड़ डोज़ का निर्यात किया गया। जिनमें अमेरिका और जापान जैसे ऐसे देश भी शामिल हैं जो आर्थिक,वैज्ञानिक दृष्टि से सम्पन्न देश हैं। इन देशों में मोदी जी की फोटो के साथ धन्यवाद ज्ञापित करने वाले बड़े बड़े होर्डिंग भी लगे।

वैक्सीन का निर्यात इसी वर्ष के मार्च, अप्रैल महीने में किया गया। ये वही दौर था जब देश भर को पता चल गया था कि कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो चुकी है और इस बार का डबल म्यूटेंट कोरोना वायरस पहले के मुकाबले ज्यादा तेजी से फैल रहा है और कई गुणा ज्यादा घातक है, फिर भी केंद्र सरकार ने वैक्सीन का निर्यात जारी रखा।

निर्यात के मसले पर उठने लगे सवाल

जब निर्यात के मसले पर सवाल खड़े होने लगे तो मोदी सरकार ने देश की जनता को आश्वस्त किया था कि हमने वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर दिया है और देश की सम्पूर्ण आबादी का टीकाकरण मुफ्त में किया जाएगा।

वैक्सीन के लिए मची है मारामारी

आज जब देश में कोरोना महामारी सारे संसार के मुकाबले सर्वाधिक विकराल रूप में सामने है तब देश में कोरोना के टीकाकरण की यह स्थिति है कि वैक्सीनेशन सेंटरों में वैक्सीन के लिए मारामारी मची हुई है।

45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोग जिन्हें वैक्सीन का पहला डोज़ लग चुका है उन्हें दूसरे डोज़ का वैक्सीन भी केंद्र सरकार उपलब्ध नहीं करा पा रही है बार बार दूसरे डोज़ की समयावधि भी बढ़ाई जा रही है, 4 हफ्ते बाद की समयावधि बढ़ते बढ़ते 12-16 हफ्ते बाद तक पहुंच गया है।

वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं

18वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है, थोड़ा बहुत जितना भी उपलब्ध हो पाता है कुछ ही घंटों में समाप्त हो जाता है और हर वैक्सीनेशन सेंटर से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में निराश लोग बिना वैक्सीन लगवाए घर लौट रहे हैं।

सँसार के हर देश जो वैक्सीन का निर्माण कर रहे हैं अपने देश की जरूरतों को पूरा करने के बाद निर्यात कर रहे हैं पर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने महज विश्व बिरादरी के बीच अपना चेहरा चमकाने के चक्कर में जानते बूझते हुए भी हमारे बच्चों के हिस्से की वैक्सीन का निर्यात कर दिया जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

आज जब देश की जनता मात्र तीन महीनों में अपने लाखों परिजनों/इष्टमित्रों को खो चुकी है,आम आदमी पार्टी केंद्र सरकार के इस कृत्य की घोर निंदा करती है।

आज पार्टी द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से वर्चुअल विरोध प्रदर्शन किया गया और केंद्र सरकार से माँग की गई कि हमारे बच्चों को केंद्र सरकार तत्काल वैक्सीन उपलब्ध कराए।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर