SSR की विसरा रिपोर्ट : एम्स का दावा, सुशांत की मौत जहर से नहीं हुई, पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर उठाए सवाल

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत के मौत के केस सीबीआई लगातार जांच में लगी हुई है, रोज नए- नए खुलासे भी आ रहे है। सुशांत के परिवारा समेत कई लोगों ने इसे हत्या बताया है। जबकि मुंबई पुलिस ने इसे सुसाइड कहा था। सुशांत कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी खुलासा हुआ था कि उनकी मौत फांसी की वजह से दम घुटने से हुई थी। और अब एम्स की टीम ने सुशांत की विसरा रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, टीम को विसरा में किसी तरह का जहर नहीं मिला है।

एम्स की रिपोर्ट में खुलासा

इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत जहर से नहीं हुई है। एम्स की रिपोर्ट में कहा गया कि उनकी शरीर में जहर नहीं पाया गाया है। इसके साथ ही फोरेंसिक टीम ने कूपर हॉस्पिटल में हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर भी सवाल उठाया है। अब सीबीआई इस रिपोर्ट का अध्ययन कर रही है। और इसका मिलान अपनी जांच से कर रही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर उठाए जा रहे कई सवाल

प्राप्त जानकारी के मुताबिक एम्स की इस रिपोर्ट में कूपर अस्पताल को क्लीन चिट नहीं दी है। एम्स की रिपोर्ट में कहा गया कि कूपर अस्पताल ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट में टाइमिंग नहीं डाला गया। मेडिकल टीम के चेयरमैन डॉ. सुधीर गुप्ता ने कहा कि अंतिम रिपोर्ट के लिए कुछ कानूनी दृष्टिकोणों को देखना पड़ेगा।

वहीं, इस रिपोर्ट के सामने आने से उन सभी कयासों पर पूर्णविराम लग गया है, जिसमें कहा जा रहा था कि सुशांत की हत्या हुई है। एम्स ने इस पर मुहर लगा दी है कि सुशांत कि मौत जहर से नहीं हुई है। इसमें किसी भी तरह का फाउल प्ले नहीं है

सिर्फ 20% विसरा के आधार पर बनी रिपोर्ट

एम्स ने एक्टर के 20% विसरा की जांच पर रिपोर्ट तैयार की है, क्योंकि मुंबई पुलिस ने सुशांत का 80% विसरा अपनी जांच में इस्तेमाल कर लिया था।

बता दे की सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच के लिए 21 अगस्त को डॉ. सुधीर गुप्ता की लीडरशिप में एम्स के पांच डॉक्टर्स की टीम बनाई गई थी। टीम 20 सितंबर को रिपोर्ट सौंपने वाली थी, लेकिन इसमें 8 दिन की देरी हो गई।

Chhattisgarh सेजुड़ीHindi News केअपडेटलगातारहासिलकरनेकेलिएहमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करेंऔर  Youtube  परहमें subscribe करें।