अब शहरी मरीज 48 तो पहुंच विहीन इलाकों के लोग 72 घंटे में अस्पतालों में बनवा सकेंगे अपने बीआईएस कोड


रायपुर। आयुष्मान भारत योजना के तहत किसी भी मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद उसके बीआईएस रिक्वेस्ट अप्रूवल का समय सरकार ने बढ़ा दिया है। ये आदेश आयुष्मान भारत एवं मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के सीईओ ने जारी किया है। नए आदेश के मुताबिक अब शहर के पंजीकृत अस्पतालों में मरीज भर्ती करने के 48 और संवेदनशील इलाकों में रहने वालों को 72 घंटों में बीआईएस कराना होगा। राज्य शासन ने ये आदेश प्रदेश के सभी अस्पतालों को जारी कर दिया है।


कहां के लोगों मिलेगी 72 घंटों की मोहलत:

राज्य के जिन पहुंच विहीन जिलों के लोगों को 72 घंटों में बीआईएस रिक्वेस्ट कोड जनरेट करवाना होगा उनमें बीजापुर,सुकमा, दंतेवाड़ा, नारायणपुर, जशपुर, बलरामपुर और सूरजपुर जिलों के नाम शामिल हैं। यहां के लोग अब 72 घंटे के अंदर अपना बीआईएस कोड जनरेट करवा सकेंगे। यानि इस अवधि के अंदर इनको अस्पताल प्रशासन कार्ड के लिए परेशान नहीं कर सकता।

क्या है बीआईएस:

हॉस्पिटल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि बीआईएस केंद्र या फिर राज्य सरकार की ओर से जारी हेल्थ कार्ड की सहायता से जनरेट किया जाने वाला एक कोड है। इसी के आधार पर अस्पताल में मरीज का इलाज किया जाता है। पहले अस्पतालों में मरीज भर्ती होने के पहले ही ये प्रक्रिया पूरी की जाती थी। अब इसको पूरा करने में सरकार ने मरीजों को 48 से लेकर 72 घंटे तक की मोहलत दे दी है। यानि अब वे सरकार की ओर से जारी मियाद के अनुसार अपना कार्ड प्रोड्यूज कर सकेंगे। इस दौरान ये डॉक्टर्स को ये भी देखना होगा कि मरीज का इलाज पूरी चौकसी के साथ जारी रहे। ऐसा करके सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के आम नागरिकों को एक बहुत बड़ी सौगात दी है। नि: संदेह इससे बहुत से पीड़ितों को फायदा होगा।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए
हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube पर हमें subscribe करें। 
एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।

Back to top button