दो विभागों में 15 वर्षों से चल रही थी एक ही योजना, हुईं आर्थिक गड़बड़ियां

रायपुर। श्रम और महिला बाल विकास विभाग एक जैसी योजना गरीब कन्याओं की शादी के लिए 15 वर्षों से चला रहे थे। निर्धन कन्या के माता-पिता को अंधेरे में रखकर दोनों विभागों ने कन्यादान योजना में अधिकारियों से सांठ-गांठ कर भ्रष्टाचार किया। इस योजना में भारी गड़बड़ियां पायी गयी है। एक ही व्यक्ति के नाम से दोनों योजनाओं का पैसा निकाला गया। ऐसे हितग्राहियों की संख्या हजारों में है।

कांग्रेस सरकार ने रमन सरकार के दौरान हुई आर्थिक गड़बडिय़ों को रोकने के लिये दोनों योजनाओं को एक बनाकर योजना की राशि को 15 हजार से बढ़ाकर 25 हजार किया है, जिसका लाभ कन्यादान योजना में हितग्राहियों को सीधे मिलेगा। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाने के लिए भाजपा लगातार झूठ का सहारा ले रही है।

कन्यादान योजना और बिजली को लेकर भाजपा का यह झूठ उजागर हो रहा है। रमन सरकार में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी के बाद ऊर्जा विभाग को सुधारने उनकी सरकार में प्रभावी पहल हो रही है। प्रदेश में बिजली की कटौती बिल्कुल नहीं है। कांग्रेस नेता श्री त्रिवेदी ने कहा है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष बिजली लोड लगभग 20 प्रतिशत बढ़ा है जिसकी पूर्ति शत-प्रतिशत की जा रही है।

रेगुलर मेंटेनेंस के लिए लाइन बंद होने को भाजपा पावरकट का गलत नाम देकर प्रचार कर रही है। लोड बढ़ने के साथ ही सिस्टम उन्नयन का कार्य भाजपा सरकार में समय पर न होने से ट्रिपींग बढ़ी और ट्रांसफारमर, कंडक्टर्स में खराबी आई जिसे तुरंत सुधारे जा रहे हैं। 20 अप्रैल के बाद लगातार सूचना प्रकाशित कर लाइन व सिस्टम उन्नयन किया जा रहा है। हर वर्ष के पहले प्री-मानसून मेंटेंनेस किया जाता है। जिसे कटौती कहकर भाजपा गलत बयानी कर रही है।

Back to top button