नवा रायपुर के जंगल सफारी के शेर की दहाड़ अब सूरत में गूंजेगी, बदले में मिलेगा ऊदबिलाव

टीआरपी डेस्क। जंगल सफारी के शेर के जोड़े की दहाड़ अब सूरत के जंगलों में सुनाई देगी। शेर को ले जाने के लिए सूरत के स्वास्थ्य विभाग का एक दल बुधवार को रायपुर पहुंच गया है। टीम शेर के स्वास्थ्य का परीक्षण करेगी उसके बाद उसे सड़क मार्ग से सूरत ले जाया जाएगा। वहीं, दूसरी तरफ शेर के बदले में सूरत से ऊदबिलाव लाने की तैयारी की जा रही है। प्रदेश के किसी भी चिड़ियाघर में अभी तक ऊदबिलाव नहीं हैं। हालांकि, गरियाबंद जिले के उदंती के जंगल में ऊदबिलाव होने का दावा वन विभाग के अफसर कर रहे हैं।

जंगल सफारी की टीम भी सूरत के लिए रवाना होगी

सफारी प्रबंधन का कहना है कि शेर को ले जाने सूरत की टीम आ गई है, जल्द ही इसे रवाना किया जाएगा। जंगल सफारी के एसडीओ विनोद कुमार सिंह ने बताया कि जंगल सफारी से शेर का जोड़ा सूरत के चिड़ियाघर में ले जाने के लिए टीम आ गई है। इसी टीम के साथ जंगल सफारी की टीम भी सूरत के लिए रवाना होगी। शेर के जोड़े के बदले सूरत से यहां ऊदबिलाव को लाया जाएगा।

उदबिलाव के आने से पर्यटकों की संख्या में होगा काफी इजाफा

अधिकारियों का मानना है कि छत्तीसगढ़ के जंगल सफारी, भिलाई और बिलासपुर स्थित जू में फिलहाल ऊदबिलाव नहीं हैं। उदबिलाव के आने से पर्यटकों की संख्या में भी काफी इजाफा होगा। उन्होंने बताया कि इससे पहले जंगल सफारी से दो लोमड़ी और चिड़िया आदि मैसूर जू को भेजा गई थी। इसके बदले यहां बायसन और भेड़िया का जोड़ा लाना था।

मैसूर जाकर बायसन व भेड़िया का जोड़ा लाया जाएगा

मगर, कोरोना संक्रमण के चलते मार्च में लाकडाउन घोषित कर दिया गया था, जिसकी वजह से मामला लटक गया। अब अनलाक होने के बाद वन विभाग की टीम एक टीम जल्द ही मैसूर जाकर बायसन व भेड़िया का जोड़ा लेकर यहां आएगी। नवंबर के अंत तक उदविलाव, बायसन और भेड़िया के जोड़े जंगल सफारी की शोभा बढ़ाएंगे। इन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ के आने की उम्मीद की जा रही है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।