Home Top Stories एक IAS ऐसा भी, यह तस्वीर दे रही जिंदगी की सबसे बड़ी...

एक IAS ऐसा भी, यह तस्वीर दे रही जिंदगी की सबसे बड़ी सीख, जानिए क्या है इसमें ऐसा खास

जमीन पर बैठा यह शख्स नहीं है आम, यह तस्वीर दे रही जिंदगी की सबसे बड़ी सीख, जानिए क्या है इसमें ऐसा खास
जमीन पर बैठा यह शख्स नहीं है आम, यह तस्वीर दे रही जिंदगी की सबसे बड़ी सीख, जानिए क्या है इसमें ऐसा खास

दामिनी बंजारे

रायपुर। सिविल सेवा में जाना हर एक युवा का सपना होता है। साथ ही इंडिया में सिविल सेवा का इतना जुनून है कि हर एक बड़े शहर में लाखों युवा इसकी प्रिपरेशन के लिए एक तपस्वी की तरह जिंदगी जीने लगते हैं। इसमें कुछ को सफलता मिलती है और बहुत से असफल होते हैं। मगर क्या सफल होने के बाद क्या एक सिविल सर्विस करने वाले अधिकारियों की जिम्मेदारी पूरी हो जाती है।

इसका जवाब आप शायद न ही बोलेंगे। क्योंकि प्रिपरेशन और सफलता के बाद ही एक अधिकारी की जिंदगी आम नहीं रहती। उसका जीवन समाज का हो जाता है। हमारे देश में ऐसे कई आईएएस अधिकारी हैं जो दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बने हुए हैं तो वहीं कुछ ऐसे अधिकारी भी हैं जो सर्विस के साथ अभिमान और अहंकार से भी लिप्त हो गए हैं।

मगर आज हम बात कर रहे हैं ऐसे आईएएस अधिकारी की जो वास्तव में युवाओं को जिंदगी का असल पाठ सिखा रहा है। हाल ही में झारखण्ड में अपनी सेवाएं दे रहे 2012 बैच के आईएएस रमेश घोलप ने अपने ट्वीटर पर एक फोटो शेयर की जिसमें वे अपनी इनोवा से नीचे उतरकर जमीन पर बैठकर एक बुजुर्ग के साथ ठहाके लगाते नजर आ रहे हैं।

इसके साथ रमेश घोलप ने जो कैप्शन लिखा वह वास्तव में आपको एक सीख देगा। उन्होंने अपनी इस तस्वीर के साथ लिखा “तजुर्बा है मेरा मिट्टी की पकड़ मजबूत होती है, संगमरमर पर हमने पांव फिसलते देखे हैं।” यह तस्वीर हमें रमेश घोलप की सादगी बताने के लिए काफी है। विदित हो कि रमेश घोलप 2012 बैच के आईएएस अधिकारी हैं जो मूलतः महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। वर्तमान में वे झारखंड शासन में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के डायरेक्टर हैं।

ऐसी ही तस्वीर 2008 बैच की आईएएस सोनल गोयल ने पोस्ट की है जो काफी मार्मिक है। उन्होंने अपने ट्वीटर पर एक मेट्रो में जमीन पर बैठी एक महिला जो अपने बच्चे को दूध पिलाती नजर आ रही है। वहीं कुछ महिलाएं सीट पर बैठी नजर आ रही हैं। इसके साथ ही सोनल ने कैप्शन लिखा कि “क्या सहानुभुति और दया के लिए शिक्षित होना पर्याप्त है।” वहीं इसी फ़ोटो को छत्तीसगढ़ में अपनी सेवा दे रहे आईएएस अवनीश शरण ने भी शेयर किया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर