क्या ऐसे ख़त्म होगा कोरोना? गंगासागर में उमड़े लाखों की संख्या में श्रद्धालु

नेशनल डेस्क। जहां एक तरफ देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है वहीं दूसरी तरफ बंगाल में मकर संक्रांति के मौके पर गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम पर भारी मात्रा में लोगो की भीड़ देखी जा रही है। पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना के गंगासागर मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को मिली। बता दें कि, देश के अन्य राज्यों की तरह बंगाल में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है।

पुरे देश में मकर संक्रांति को लेकर कोरोना गाइडलाइन जारी की गई थी। इसके साथ ही इस अवसर पर नदी-तालाबों में नहाने पर सख्ती की गई थी। लेकिन पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना के गंगासागर में भक्तों की भीड़ उमड़ी। इन तस्वीरों में कोरोना गाइडलाइन की धज्जियाँ उड़ते देखा जा सकता है। लाखों की संख्या में भक्त गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम पर डुबकी लगाते हुए नजर आ रहे हैं।

क्या ऐसे ख़त्म होगा कोरोना? गंगासागर में उमड़े लाखों की संख्या में श्रद्धालु

बंगाल में बढ़ रहा है संक्रमण दर:

देश के हर राज्य की तरह यहाँ भी कोरोना के मामलो तेजी से उछाल देखा गया है। पश्चिम बंगाल में गुरुवार को 24 घंटे में कोरोना के 23,467 नए मामले सामने आये थे। जिसके बाद रविवार को 24,287 नए कोविड-19 के केस दर्ज किये गए। पश्चिम बंगाल में पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 32.13% हो गया, जबकि बुधवार को पॉजिटिविटी दर 30.86% पर था।

मुख्यमंत्री ने कोविड प्रोटोकॉल को लेकर बरती थी सख्ती:

बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में कोरोना के मामलों को देखते हुए तीर्थयात्रियों से कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की अपील की थी। साथ ही प्रशासन से कहा कि वे वार्षिक मेले में बहुत बड़ी संख्या में लोगों को ना भेजें।

कोलकाता हाई कोर्ट ने 8 से 16 जनवरी तक गंगासागर मेले के आयोजन की अनुमति देते हुए पूरे सागर द्वीप को अधिसूचित क्षेत्र घोषित करने का आदेश दिया था। हाई कोर्ट के निर्देश के अनुसार मेले में आने वाले सभी लोगों ने कोविड-19 रोधी टीकों की दोनों खुराक ले ली हो। इसके साथ ही कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने से 72 घंटे पहले की ‘आरटीपीसीआर’ जांच रिपोर्ट हो, जिसमें उनके संक्रमित ना होने की पुष्टि की गई हो और इसके बावजूद सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए भीड़ को सख्ती से नियंत्रित किया जाए।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button