आगरा का ताजमहल मकबरा है या मंदिर- हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू

वाराणसी। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले का विवाद सुलझा नहीं कि इस बीच आगरा का ताजमहल मकबरा है या मंदिर, इसे लेकर विवाद गहरा गया है। ताजमहल को लेकर दायर की गई याचिका पर आज इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सुनवाई शुरू हो चुकी है। याचिका पर इससे पहले 10 मई को सुनवाई होनी थी, जोकि किन्हीं कारणों के चलते नहीं हो सकी।

भाजपा सांसद दीया कुमारी कर चुकीं है दावा

दरअसल, जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने दावा किया है कि ताजमहल जयपुर राजपरिवार की जमीन पर बना हुआ है। उन्होंने जरुरत पड़ने पर इसके दस्तावेज भी उपलब्ध कराने की बात कही है। भाजपा सांसद ने ताजमहल के बंद कमरों को खोलकर उनकी जांच कराने की भी मांग की है।

एक्यवार की गई जमीन पर बनाया गया ताजमहल

सांसद दीया कुमारी ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि उस समय उनका शासन काल था । उनको जमीन अच्छी लगी तो उन्होंने इसे एक्यवार कर लिया। लेकिन आज भी कोई जमीन सरकार एक्वायर करती है तो मुआवजा देती है ।  उन्होंने यह भी कहा कि, इसके बदले में मुआवजा दिया था. लेकिन उस वक्त ऐसा कोई कानून नहीं था कि अपील या कोई विरोध किया जा सके ।  उन्होंने कहा कि, अच्छा है लोग अब इसे लेकर सामने आ रहे हैं और बात कर रहे हैं।

ताजमहल में बने 22 कमरों को खोलने की मांग

दरअसल, ताजमहल में बने 22 कमरों को खोलने की मांग को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई है, जिसमें दावा किया गया है कि कई सालों से बंद इन कमरों में हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियां और शिलालेख मौजूद हैं ।  फिलहाल, आज इस याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सुनवाई है। 

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button