तीन पुलिस वालों की गोली मारकर हत्या, काले हिरण के शिकार से जुड़ा है मामला

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना में आज रात काले हिरण के शिकारियों ने कत्लेआम मचाकर क्षेत्र में दहशत फैला दी। सूचना के आधार पर गुना के आरोन के इलाके में पुलिस की एक टीम शिकारियों को पकड़ने पहुंची थी। जिसके बाद हुई मुठभेड़ में शिकारियों ने एक एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी। जिन पुलिसकर्मियों की हत्या हुई है उसमें एसआई राजकुमार जाटव, हवलदार संतराम मीना और सिपाही नीरज भार्गव शामिल हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने तीनों पुलिसकर्मियों के परिवार को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है।

मिली जानकारी के अनुसार, गुना जिले के आरोन थाने के पुलिसकर्मियों को सूचना मिली कि कुछ शिकारी इलाके में काले हिरण के शिकार के लिए आए हैं। ऐसे में थाने से 6 लोग शिकारियों को पकड़ने के इरादे से तय जगह के लिए निकल गए। जहां पर पुलिस टीम और शिकारियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में शिकारियों ने एक एसआई और दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।

गुना के पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा ने बताया कि गुना के आरोन थाना क्षेत्र के जंगल में शिकारियों ने पुलिसकर्मियों पर हमला किया। शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों आरोन थाने के एसआई, हेड कांस्टेबल व आरक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना में तीन सिपाही भी गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गुना की घटना पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि घटना बहुत दुखद है। कुछ बदमाशों की सूचना पुलिस को मिली थी। बदमाशों ने अपने आप को चारों तरफ से घिरा देखकर फायरिंग शुरू कर दी। इसमें हमारे एक SI, एक हेड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल शहीद हो गए। हालांकि, इस घटना के बाद प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button