10 लाख आशा कार्यकर्ताओं को WHO से मिला ग्लोबल हैल्थ लीडर्स अवार्ड- PM मोदी ने दी बधाई

नई दिल्ली। कोरोना काल में अपनी जान की परवाह ना करते हुए फ्रंट लाइन वर्कर के रूप में मरीजों की  सेवा करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों  एवं आशा कार्यकर्ताओं के योगदान महत्वपूर्ण रहा है। इस बीच देश के कई स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने कोरोना मरीजों की सेवा करते हुए खुद संक्रमित हुए। उनके इस समर्पण की भावना को देखते हुए उन्हें WHO की ओर से  ग्लोबल हैल्थ लीडर्स अवार्ड से सम्मानित किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता ‘आशा’ के कार्यकर्ताओं को विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक के ग्लोबल हेल्थ लीडर्स पुरस्कार से सम्मानित किए जाने पर बधाई दी। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में आशा कार्यकर्त्ताओं की टीम को WHO महानिदेशक के ग्लोबल हैल्थ लीडर्स अवार्ड मिलने पर बधाई देते हुए कहा कि ये कार्यकर्ता स्वस्थ भारत को सुनिश्चित करने में आगे हैं तथा उनका समर्पण एवं संकल्प काबिले तारीफ है।

देश में 10 लाख से अधिक आशा कार्यकर्ताओं को उनके ग्रामीण एवं गरीबी में रहने वाले लोगों तक स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाने तथा उनकी देखभाल करने के लिए यह पुरस्कार दिया गया है। WHO ने एक ट्वीट में कहा ये कार्यकर्ता बच्चों को मातृ देखभाल और टीकाकरण प्रदान करते है।

WHO के महानिदेशक डॉ टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने वैश्विक स्वास्थ्य को आगे बढ़ाने, क्षेत्रीय स्वास्थ्य मुद्दों के लिए नेतृत्व और प्रतिबद्धता का प्रदर्शन करने के लिए उत्कृष्ट योगदान को मान्यता देने के लिए छह पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों के लिए समारोह 2019 में शुरू किया गया था।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर
 

Back to top button