महाराष्ट्र संकट : उद्धव को शरद पवार की सलाह – शिंदे को सीएम बनाकर खत्म होगा ‘महा’नाटक..!

मुंबई। महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार की भूमिका अहम हो गई है। उद्धव ठाकरे के साथ सीएम आवास पर हुई बैठक में शरद पवार ने मास्टरस्ट्रोक खेला है। सूत्र बताते हैं कि शरद पवार ने सलाह दी है कि एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनाकर महाराष्ट्र का संकट खत्म किया जा सकता है।

शरद पवार के साथ महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की सीएम आवास में एक घंटे तक चली बैठक खत्म हो गई है। बैठक में एनसीपी नेता सुप्रिया सुले भी मौजूद रहीं। सूत्रों के अनुसार, शरद पवार और सीएम उद्धव ठाकरे के बीच हुई बैठक में शिंदे को कैसे शांत किया जाए, इस पर चर्चा हुई। इस बात पर भी चर्चा हुई क्या शिंदे को सीएम पद सौंपा जा सकता है। इसके अलावा दोनों नेताओं के बीच कैबिनेट विभागों के फेरबदल के मुद्दे पर भी बातचीत हुई।

सुप्रिया सुले का थंब्सअप चर्चा में

घंटेभर चली बैठक के बाद शरद पवार यहां से रवाना हुए। इस दौरान सुप्रिया सुले ने थंब्सअप का साइन दिखाया। इससे माना जा रहा है कि महाराष्ट्र के संकट के संभवत: काट खोज ली गई है। वहीं उद्धव ठाकरे भी बैठक खत्म होने के बाद सीएम आवास के बाहर आए।

शिवसेना के फैसले पर साथ होगी कांग्रेस

उधर सत्तारूढ़ महाविकास आघाड़ी की सहयोगी कांग्रेस ने भी शिवसेना का साथ देने की बात कही है। एकनाथ शिंदे को सीएम बनाने की बात पर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा, ‘अभी इस विषय में चर्चा नहीं हुई। उद्धव जी जो भी फैसला लेंगे उनके साथ में हैं। यह उनकी पार्टी का मामला है। परिवार में फूट होती है तो कोशिश होती है घर संभालना। उद्धव ने अपने परिवार को इकट्ठा करने की कोशिश की है। उद्धव के साथ शिवसैनिक खड़े हो चुके हैं। इस बात को एकनाथ शिंदे और दूसरे बागी भी समझ रहे हैं।’

पवार से मुलाकात से ठीक पहले मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने सरकार पर आए संकट पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि अगर बागी विधायक उनसे यह कहते हैं कि वह उन्हें (ठाकरे) मुख्यमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते तो वह अपना पद छोड़ने के लिए तैयार हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुख्यमंत्री पद पर किसी शिव सैनिक को अपना उत्तराधिकारी देखकर उन्हें खुशी होगी। ठाकरे ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार के सुझाव पर अपनी अनुभवहीनता के बावजूद मुख्यमंत्री का पद संभाला था।

शिंदे खेमे के 34 विधायकों ने राज्यपाल को लिखा पत्र

इससे पहले शिवसेना के 34 विधायकों ने उद्धव ठाकरे से बगावत करके समर्थन वापस लेने के लिए राज्यपाल को चिट्टी लिखी है। साथ ही एकनाथ शिंदे के शिवसेना विधायक दल के नेता के रूप में बने रहने की बात कहते हुए 34 विधायकों के हस्ताक्षर वाले शिवसेना विधायक दल के प्रस्ताव को राज्यपाल के पास भेज दिया गया है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन की सरकार है। इस बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे ने बगावत कर दी है। शिंदे शिवसेना के विधायकों के साथ गुवाहाटी में हैं और खुद के गुट को असली शिवसेना बता रहे हैं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button