भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सीएम भूपेश की प्रशंसा करने से खुद को रोक नहीं पाए

0 गौधन योजना पर बधाई भी दी और तंज भी कसे डॉ सुधांशु त्रिवेदी ने

रायपुर। विशेष संवादाता /टीआरपी
कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में मीडिया में स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव वर्ष के लिए प्रदेश संगठन कार्यालय में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता मीडिया के सामने भूपेश सरकार की तारीफ करते दिखे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की गौधन योजना को सराहते हुए सीएम को बधाई दिए। सुधांशु ने यह भी कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य के लिए यह आवश्यक भी है और सार्थक भी। छत्तीसगढ़ के हरेली पर्व पर शुरू की गई गोबर और गोमूत्र खरीदी पर भाजपा की भावना और संकल्प को स्वीकारते हुए कांग्रेस सरकार इसे स्वीकार की है। उन्होंने कहा कि दो सप्ताह बाद स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण करेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी ने आगामी 25 वर्ष के काल को अमृतकाल कहा है। यह एक सुखद संयोग है कि इस समय भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति हैं। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. सुधांशु त्रिवेदी ने गौमूत्र की खरीदी शुरू करने पर सीएम भूपेश बघेल को बधाई दी। उन्होंने कहा कि गौसेवा आयोग का गठन भाजपा ने किया था। भाजपा का जो संकल्प था, उसकी सार्थकता को कांग्रेस सरकार ने स्वीकार किया, इसलिए उन्हें बधाई। त्रिवेदी ने कहा कि यह भी देखना है कि गौमूत्र और गोबर में जिस प्रकार से किसानों से लिया जा रहा है और जिस प्रकार किसानों को दिया जा रहा है, छत्तीसगढ़ की जनता यह देख रही है। उसमें किसान और जन कल्याण का विषय अधिक होना चाहिए और लाभ का कम।

सिंहदेव के इस्तीफे और कानून व्यवस्था पर भी कहा

मंत्री टीएस सिंहदेव द्वारा पंचायत विभाग छोड़ने और उनके 4 पेज में लिखे गए पत्र पर भी तीखे सवाल खड़े किए। उन्होंने छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था को लेकर भी सवाल किया है। त्रिवेदी ने कहा कि यहां कानून व्यवस्था की स्थिति दिन ब दिन खराब होती जा रही है। एक नहीं अनेक ऐसी घटनाएं हुई हैं, चाहे महिलाओं के प्रति अपराध का विषय हो, चाहे अन्य अपराध हो, वह निरंतर बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंने पूछा कि जिस समय यहां कवर्धा में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत संवेदनशील थी और इंटरनेट बंद किया गया था, उस समय छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री दिल्ली में थे। अभी तक युवकों को 2500 भत्ता नहीं मिला जबकि चुनवी घोषणा पत्र में कहा गया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button