संगठन महामंत्री जामवाल आते ही करेंगे लगातार बैठक

0 प्रदेश भाजपा की खेमेबाज़ी डोर करना बड़ी चुनौती , 02 अगस्त को आएंगे 5 को भोपाल रवानगी

रायपुर। विशेष संवादाता। टीआरपी
त्रिपुरा में वामपंथी सरकार को उतारकर भाजपा को सत्तारूढ़ करने का क्रेडिट प्रदेश भाजपा के नए संगठन महामंत्री अरुण जामवाल को दिया जाता है। मंगलवार 2 अगस्त को रायपुर आते ही श्री जामवाल तीन दिन संगठन के सभी नेताओं और पदाधिकारी से बैठक करेंगे। मिशन 2023 को लेकर रायपुर पहुँचते ही वे एक्टिव मोड पर होंगे। सख्त मिज़ाज़ नए संगठन महामंत्री के लिए प्रदेश भाजपा में विधानसभा चुनाव में क़रीर शिकस्त के बाद से ही गुटबाजी को ख़त्म करना बड़ी चुनौती होगी।

पार्टी सूत्रों की माने तो मिशन-23 के लिए मैदानी रणनीति बनाने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने छत्तीसगढ़ में एक और संगठन महामंत्री के रूप में जामवाल को पिछले सप्ताह नियुक्त किया है। जामवाल इससे पहलेे त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में काम कर चुके है। त्रिपुरा में तो वामपंथी सरकार को भाजपा ने अपदस्थ कर जीत हासिल किया है। पार्टी में त्रिपुरा मॉडल की चर्चा जब होती है तो जामवाल का नाम का उल्लेख होता ही है। जामवाल,उसी चुनावी मॉडल को लेकर यंहा आ भी रहे हैं। राष्ट्रीय कार्यालय से जामवाल को पूर्व प्रदेश महामंत्री सौदान सिंह के बेहतर विकल्प के तौर पर भेजा गया है। बता दें कि 2003 के चुनाव में जोगी सर्कार को हराकर पार्टी को सौदान सिंह ने भाजपा को 15 साल सत्ता में रहने का गुर सीखाए थे। हालाकि वर्ष 2008 आते तक सौदान सिंह पर गुटबाजी का आरोप लगने लगा था। यह खेमेबाजी अब तक कायम है। इससे कार्यकर्ता अपने-अपने क्षेत्रों में विधायक और जिलापक्षों के बीच बट गए हैं। जामवाल की प्राथमिक्ता इसे दूर करने की होगी।

बताते है कि श्री जामवाल दिल्ली से पूरा जान समझकर आ रहे हैं। उनकी राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा और पीएम मोदी से भी बैठक हुई है। मोदी ने झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस से फीड बैक लिया था। आते ही वे रात को कोर ग्रुप की बैठक आहूत किये है। 3-4 अगस्त को वे जिला प्रभारियों ,महामंत्रियों,मोर्चा प्रकोष्ठों के प्रमुखों की बैठक लेंगे। वे फ़िलहाल जिलाध्यक्षों की बैठक इस बार नहीं करेंगे संभवतः वे इनकी अगले दौर के प्रवास में बैठक ले सकते है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button