खूंखार वीरप्पन को मार गिराने वाली टीम के लीडर अब बने दिल्ली पुलिस के मुखिया

नई दिल्ली। अर्धसैनिक बल आईटीबीपी के प्रमुख तमिलनाडु कैडर के आईपीएस अधिकारी संजय अरोड़ा ने आज दिल्ली पुलिस आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाल लिया। अरोड़ा तमिलनाडु पुलिस के विशेष कार्य बल का हिस्सा थे जिसने खूंखार वीरप्पन को मार गिराया था।

संजय अरोड़ा 1988 बैच के तमिलनाडु कैडर के आईपीएस हैं। उन्होंने एमएनआईटी जयपुर से इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री प्राप्त की।वहीं आईपीएस में शामिल होने के बाद, उन्होंने तमिलनाडु पुलिस में विभिन्न पदों पर कार्य किया। वह स्पेशल टास्क फोर्स के पुलिस अधीक्षक (एसपी) थे। यहां उन्होंने वीरप्पन गिरोह के खिलाफ महत्वपूर्ण सफलता हासिल की, जिसके लिए उन्हें वीरता पदक से सम्मानित भी किया गया।

1991 में, संजय अरोड़ा ने एनएसजी से प्रशिक्षित होने के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री की विशेष सुरक्षा समूह (एसएसजी) के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने राज्य के विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षक के रूप में भी कार्य किया।

संजय अरोड़ा ने 1997 से 2002 तक कमांडेंट के रूप में प्रतिनियुक्ति पर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) में सेवा दी। उन्होंने 1997 से 2000 तक उत्तराखंड के मतली में ITBP बटालियन की एक सीमा सुरक्षा की कमान संभाली थी। एक प्रशिक्षक के रूप में संजय अरोड़ा ने 2000 से 2002 तक ITBP अकादमी, मसूरी में कमांडेंट (लड़ाकू विंग) के रूप में सेवा दी।

उन्होंने 2002 से 2004 तक कोयंबटूर शहर के पुलिस आयुक्त का पद संभाला। पुलिस उप महानिरीक्षक, विल्लुपुरम रेंज और सतर्कता और भ्रष्टाचार विरोधी उपनिदेशक के रूप में भी कार्य किया है। उन्होंने चेन्नई सिटी पुलिस का नेतृत्व, अतिरिक्त आयुक्त (अपराध और यातायात) के रूप में किया है. प्रमोशन पर उन्हें तमिलनाडु पुलिस में एडीजीपी के रूप में नियुक्त किया गया था।

संजय अरोड़ा ने आईजी बीएसएफ, आईजी छत्तीसगढ़ और आईजी ऑपरेशंस सीआरपीएफ के रूप में काम किया है. इससे पहले एडीजी मुख्यालय और ऑपरेशन सीआरपीएफ और विशेष डीजी जम्मू-कश्मीर जोन सीआरपीएफ के रूप में कार्य किया है. 31 अगस्त, 2021 को डीजी आईटीबीपी के रूप में 31वें सेना प्रमुख के रूप में उन्होंने पद संभाला था।

उन्हें 2004 में सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक, 2014 में विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक, पुलिस विशेष कर्तव्य पदक, आंतरिक सुरक्षा पदक और संयुक्त राष्ट्र शांति पदक सहित अन्य से सम्मानित किया जा चुका है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button