ED ने रायपुर-बिलासपुर और महासमुंद में जिला पंजीयक को भेजा है नोटिस, ED की गिरफ्त और जांच में फंसे लोगों ने करोड़ों की ज़मीन रजिस्ट्री में किया खेल, 2 महीने में 52 से ज्यादा नोटिस जवाब नहीं दे रहा महकमा

विशेष संवादाता, रायपुर। ED ने पिछले 2 महीने में पंजीयक रायपुर, बिलासपुर और महासमुंद को 52 से ज्यादा नोटिस भेजा हैं। कई अधिकारियों की संपत्ति की जानकारी मांगी है। जिसमे रजिस्ट्री शुल्क, कीमत, रजिस्ट्री का समय और पूरी डिटेल शामिल है। लेकिन ED की नोटिस के फरान बाद से ही खासकर दो संभागों के चार पंजीयक दफ्तर में फेरबदल कर दिया गया है। इसलिए दो माह पूर्व ED की नोटिस के बाद से ही कोई संतोष जनक जवाब रजिस्ट्री कार्यालय द्वारा नहीं दिया गया है। क्योंकि ईडी छापे के बाद रायपुर, महासमुंद, बिलासपुर, कोरबा समेत अन्य वीआईपी जिलों के पंजीयक कार्यालय में ट्रांसफर कर दिया गया। जो पंजीयक नए आए हैं उनको डिटेल मालूम नहीं। इसलिए नोटिस का जवाब देने में काफी समय लग रहा है। रायपुर रजिस्ट्री विभाग में पिछले महीने ही तबादले में मुख्य जिला पंजीयक समेत तीन उप पंजीयक बदल गए हैं।

वक्त-बे-वक्त दनादन रजिस्ट्री, समय से ऐसे खेले

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रायपुर रजिस्ट्रार को करीब डेढ़ महीने में 52 से ज्यादा नोटिस दी है। इसमें विभाग से रायपुर जिले में जमीन की खरीदी-बिक्री के दस्तावेज मांगे गए हैं। इनमें वे लोग भी शामिल हैं, जिन्हें ईडी ने हाल ही में गिरफ्तार किया है। इसमें एक कलेक्टर की संपत्ति की जानकारी भी शामिल है। बिलासपुर और कोरबा में भी नोटिस भेजने की तैयारी है। रजिस्ट्री के समय को लेकर ऐसा खेल हुआ है जिसकी जानकारी भी ED को है। आमतौर पर 4:30 बजे के बाद रजिस्ट्री नहीं होती। लेकिन ED के संदेहियों की सभी रजिस्ट्री शाम 6 बजे के बाद की बताई जाती है। समय इसलिए इंपॉर्टेंट है क्योंकि पोर्टल समय के बाद तभी खुल सकता है जब आईजी पंजीयक इसकी अनुमति दे। एक आईएएस की जमीं रजिस्ट्री तो 8:30 बजे के बाद की है।

सवालों से खलबली

  1. क्या डेढ़ माह में सबसे ज्यादा ED के संदिग्धों ने जमीं ख़रीदा बेचा?
  2. निर्धारित समय के बाद भी रजिस्ट्री पोर्टल नियम से किसने किया छेड़छाड़?
  3. नई रजिस्ट्री होने से पहले पुरानी रजिस्ट्री किन लोगों के नाम पर थी?
  4. जमीन मालिकों ने ई-स्टांप की खरीदी नगद की या ऑनलाइन?
  5. क्यों पुरानों को हटाकर नए पंजीयक और उप पंजीयक नोटिस का सामना कर रहे?
  6. ED ने नोटिस में 10 से ज्यादा बिंदुओं में जानकारी मांगी गई है क्या जवाब देंगे?
  7. अफसरों से खसरा नंबर, नाम और जगह की जानकारी व कब खरीदी-बेची गई की फाइल है?

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर