बड़ी खबरः कोरिया डिस्ट्रिक्ट जज के बंगले में मिला भृत्य का शव

भुवनेश्वर । ओडिशा के नबरंगपुर जिले के चार लोगों के शव छत्तीसगढ़ में कांकेर-कोंडागांव राजमार्ग के किनारे एक कुएं से मिले हैं। ये चारों लोग 10 दिसंबर से लापता थे। उमरकोट के प्रभारी निरीक्षक दीपक कुमार जेना ने कहा कि जिस कार में वे यात्रा कर रहे थे, उसमें चारों व्यक्तियों के शव मिले हैं। स्थानीय पुलिस ने शवों समेत कार को खुले कुएं से बरामद किया है। मृतकों की पहचान सपन सरकार, उनकी पत्नी रीता, साले बिस्वजीत और उनके पड़ोसी हजारी धली के रूप में हुई है। सभी ओडिशा के नबरंगपुर जिले के उमरकोट के रहने वाले थे।


कांकेर के प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि उनके रिश्तेदारों द्वारा शिकायत दर्ज की गई थी कि चारों व्यक्ति 10 दिसंबर की रात लगभग 10.30 बजे कांकेर से निकले थे, लेकिन वे अपने स्थान तक नहीं पहुंचे। जांच के दौरान हमें कुएं की ओर एक वाहन के निशान मिले। जब पास पहुंचे तो देखा कार कुएं में है। हमने कार और उसमें सवार सभी चारों लोगों के शव बरामद कर लिए हैं।


बताया जा रहा है कि चारों लोग शनिवार को एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए कार से कांकेर गए थे। घर लौटते समय उन्होंने रास्ते में छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में बिस्वजीत के पैतृक स्थान पर रूकने का फैसला किया था। हालांकि, वे अगली सुबह तक अपने स्थान पर नहीं पहुंचे और उन सभी के मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ रहे थे।


इसके बाद परिजनों ने ओडिशा के उमरकोट पुलिस थाने और छत्तीसगढ़ के कांकेर थाने में अलग-अलग शिकायत दर्ज कराई थीं। पुलिस ने सड़क किनारे खुले कुएं से उनकी कार और चारों लोगों के शव बरामद कर लिए हैं।