सच्चाई सामने आ गई... अब आंकड़े बताते हैं कि असली पप्पू कौन है - महुआ मोइत्रा

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा आर्थिक संकेतकों और अर्थव्यवस्था को संभालने के सरकार के तौर-तरीकों पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने फरवरी में लोगों को विश्वास दिलाया कि अर्थव्यवस्था बेहद अच्छी चल रही है, सबको गैस सिलेंडर, आवास और बिजली जैसी सभी बुनियादी सुविधाएं मिल रही हैं।

बताईए अब असली पप्पू कौन ?: महुआ मोइत्रा

मोइत्रा ने आगे कहा कि अब आठ महीने बाद सच्चाई सामने आ गई है। उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अब पप्पू कौन है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि किसी को नीचा दिखाने के लिए पप्पू शब्दावली का इस्तेमाल किया गया अब आंकड़े बताते हैं कि असली पप्पू कौन है।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों का हवाला देते हुए, मोइत्रा ने दावा किया कि अक्टूबर में देश का औद्योगिक उत्पादन चार प्रतिशत घटकर 26 महीने के निचले स्तर पर आ गया था, लेकिन विनिर्माण क्षेत्र जो अभी भी सबसे बड़ा उत्पादक है, उसमें नौकरियों में 5.6 प्रतिशत तक की कमी आई है।

टीएमसी सांसद ने दावा किया, “विरोधी दलों के नेताओं को परेशान करने के लिए ईडी को इस्तेमाल किया जा रहा है। यह बताना चाहिए कि ईडी के मामलों में दोषिसिद्ध का प्रतिशत क्या है? क्या सिर्फ लोगों को परेशान करने के लिए इस एजेंसी का इस्तेमाल हो रहा है? असली पप्पू कौन है?” उन्होंने यह भी सवाल किया कि सरकार अतिरिक्त राजस्व, खासकर कर से इतर राजस्व संग्रह के लिए क्या कर रही है?

इस दौरान, उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारण के एक बयान का भी जिक्र किया और कहा, “हम लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं। हमारा यह अधिकार है कि सरकार अक्षमता को लेकर सवाल करें। यह सरकार का राजधर्म है कि वह जवाब दे। वह ‘खिसियानी बिल्ली’ की तरह व्यवहार करें।”

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू