Monday, January 17, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeछत्तीसगढ़CG NEWS : छात्राओं के साथ डांस करने वाले प्राचार्य पर हुई...

CG NEWS : छात्राओं के साथ डांस करने वाले प्राचार्य पर हुई कार्यवाही, निलंबन में लग गए 7 महीने

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

रामानुजगंज : 7 माह पहले रामानुजगंज के शासकीय कॉलेज के प्रिंसिपल का एक वीडियो छात्राओं के साथ डांस करते हुए वायरल हुआ था। छात्राओ के साथ डांस करने वाले रामानुजगंज के सरकारी कॉलेज के प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद लगातार कॉलेज की छात्राएँ प्रिंसिपल को कॉलेज से हटाने की मांग कर रहीं थीं। अंततः 7 महीनों के बाद इस मामले पर कार्रवाई करते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने आरोपी प्राचार्य को हटा दिया है।

जानकारी के अनुसार मार्च 2021 में रामानुजगंज के शासकीय कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य आर. बी. सोनवानी का आपत्तीजनक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें प्राचार्य एक अभद्र छत्तीसगढ़ी गाने में छात्राओं के साथ डांस करते नज़र आ रहे थे। इसके बाद से लगातार महाविद्यालय के छात्र – छात्राएं हटाने की मांग में प्रदर्शन और नारेबाजी करते रहे थे। साथ ही प्राचार्य को हटाने की मांग को लेकर छात्र छात्राओं ने उच्च शिक्षा विभाग से लेकर राज्यपाल तक इसकी शिकायत की थी और धरना प्रदर्शन व चक्काजाम करके भी अपनी बात मनवाने का प्रयास किया था।

7 महीनों का लग गया समय

मामले की गम्भीरता को देखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने मामले की जांच करवाई। जांच में प्राचार्य के दोषी पाए जाने पर उच्च शिक्षा विभाग ने प्रभारी प्राचार्य आर. बी. सोनवानी को निलंबित कर दिया है। लेकिन इस कार्यवाही के साथ ही कुछ और भी सवाल खड़े हो गए हैं। जिनमें सबसे बड़ा सवाल है कि जाँच में इतना समय लगा ही क्यों? आखिर वो क्या कारक थे जो जाँच में विलम्ब बढ़ा रहे थे? और क्या इसमें आरोपी प्राचार्य को बचाने की भरपूर कोशिश की गई है?

प्राचार्य पर लग चुके हैं और भी कई आरोप

आरोपी प्राचार्य आर. बी. सोनवानी के ऊपर इस आपत्तीजनक डांस के अलावा कई और आरोप भी लग चुके हैं। आरोपी प्राचार्य पर छात्र छात्राओं द्वारा कोरे कागज़ पर दस्तखत कराने, छात्र छात्राओं की शारीरिक संरचना पर टिका टिप्पणी करने के साथ साथ अन्य आरोप भी लग चुके हैं। आरोपी पर जातिगत मामले के झुठे आरोप में फँसाने की धमकी देने का आरोप भी लग चुका है। सभी छात्र उनके विरोध में थे तब विरोध को दबाने की नियत से आरोपी प्राचार्य द्वारा छात्रों को डराने धमकाने का मामला भी सामने आया था। बता दें कि प्राचार्य अनुसूचित जाति के हैं और विरोध के दौरान सामान्य वर्ग के छात्रों को जातिवाद संबंधी झूठे मामले में फसाने की धमकी देने का आरोप भी प्राचार्य पर लग चुका है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -CG Go Dhan Yojna

R.O :- 11682/ 53

Chhattisgarh Clean State

R.O :- 11664/78





Most Popular