देखें वीडियो: केंद्रीय मंत्री गंगवार के इस बयान के बाद मचा बवाल, विपक्ष के ट्विटर वॉर के बाद अब मंत्री ने दी ये सफाई

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) के बेरोजगार युवाओं को लेकर दिए गए बयान पर विपक्ष हमलावर है। संतोष गंगवार ने बरेली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि आज देश में नौकरी की कोई कमी नहीं, लेकिन उत्तर भारत के युवाओं में वह काबिलियत नहीं कि उन्हें रोजगार दिया जा सके। संतोष गंगवार के बयान को लेकर कांग्रेस और बसपा ने सरकार पर हमला बोला। वहीं, बयान पर फजीहत के बाद संतोष गंगवार ने सफाई दी है।

बयान को गलत तरीके से पेश किया गया

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, ‘संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने कहा कि मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया। मैंने जो कहा था उसका अलग संदर्भ था। देश में योग्यता की कमी है और सरकार ने इसके लिए कौशल विकास मंत्रालय भी खोला है। इस मंत्रालय का काम नौकरी के हिसाब से बच्चों को शिक्षित करना है।


संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने शनिवार को बरेली में संवाददाताओं से बातचीत में कहा था, ‘देश में रोजगार की कमी नहीं है लेकिन उत्तर भारत में जो रिक्रूटमेंट करने आते हैं, इस बात का सवाल करते हैं कि जिस पद के लिए हम रख रहे हैं उसकी क्वालिटी का व्यक्ति हमें कम मिलता है। उन्होंने कहा, ‘आजकल अखबारों में रोजगार की बात आ रही है। हम इसी मंत्रालय को देखने का काम करते हैं और रोज ही इसी का मंथन करने का काम करते हैं। बात हमारे समझ में आ गई है। रोजगार दफ्तर के अलावा भी हमारा मंत्रालय इसको मॉनिटर कर रहा है।

नौकरियां पैदा नहीं कर पाए

प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) ने गंगवार के बयान पर ट्वीट किया, ‘5 साल से आपकी सरकार है। आप नौकरियां पैदा नहीं कर पाए।


जो नौकरियां थीं वो सरकार द्वारा लाई आर्थिक मंदी के चलते छिन रही हैं। नौजवान रास्ता देख रहे हैं कि सरकार कुछ अच्छा करे, जो नहीं किया गया। आप उत्तर भारतीयों का अपमान करके बच कर नहीं जा सकते। ये नहीं चलेगा।

देश से माफी मांगनी चाहिए

उधर, बसपा प्रमुख मायावती (mayawati) ने ट्वीट किया, देश में छाई आर्थिक मंदी के बीच केंद्रीय मंत्रियों के अलग-अलग हास्यास्पद बयानों के बाद अब देश और खासकर उत्तर भारतीयों की बेरोजगारी दूर करने के बजाय यह कहना कि रोजगार की कमी नहीं, बल्कि योग्यता की कमी है, अति शर्मनाक है।


इसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।