Wednesday, December 1, 2021
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeएजुकेशनकोविड में बेसहारा हुए बच्चों को सीएम बघेल ने दी करीब पौने...

कोविड में बेसहारा हुए बच्चों को सीएम बघेल ने दी करीब पौने दो करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति, 2373 विद्यार्थियों को मिला फायदा

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

रायपुर। शासकीय और अशासकीय शालाओं में पढ़ रहे विद्यार्थियों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री की विशेष पहल पर कोविड महामारी के दौरान अनाथ हुए बच्चों के लिए महतारी दुलार योजना की शुरुआत की गई थी। राज्य छात्रवृत्ति के नियमानुसार 10 माह की गणना के आधार पर इन छात्रों को छात्रवृत्ति का एकमुश्त भुगतान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत स्कूलों के 2373 विद्यार्थियों को 1 करोड़ 65 लाख 95 हजार रूपए की राशि का भुगतान छात्रवृत्ति के रूप में कर दिया गया है।

दस माह की गणना के आधार पर किया भुगतान

विगत माह से छत्तीसगढ़ में कोविड-19 से अनाथ हुए शासकीय और अशासकीय शालाओं के विद्यार्थियों को महतारी दुलार योजना के अंतर्गत शामिल किया गया। इस योजना में विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति तथा शाला शुल्क का भुगतान किया जाता है। इस योजना के तहत कक्षा पहली से कक्षा 8वीं के विद्यार्थियों को प्रति माह 500 रूपए तथा कक्षा 9वीं से कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों को एक हजार रूपए प्रतिमाह की दर से छात्रवृत्ति देने का प्रावधान है।

इतने विद्यार्थियों को किया गया छात्रवृत्ति का भुगतान

राज्य छात्रवृत्ति के नियमानुसार 10 माह की गणना के आधार पर कक्षा पहली से 8वीं के विद्यार्थियों को एकमुश्त 5 हजार रूपए तथा कक्षा 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों को एकमुश्त 10 हजार रूपए की राशि का विद्यार्थियों के खाते में किया गया है। जिसके अनुसार राज्य छात्रवृत्ति पोर्टल पर 2 नवंबर 2021 की स्थिति में छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना के अंतर्गत कुल 2373 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। इन सभी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति का भुगतान कर दिया गया है।

क्या है महतारी दुलार योजना

कोरोना काल में माता-पिता को खोने वाले छात्रों की मदद करने का ऐलान राज्य सरकार ने किया था। छात्रों को महतारी दुलार योजना के तहत छात्रवृत्ति और स्कूल की फीस मिलनी थी। योजना का फायदा लेने के लिए प्रदेश भर से 5 हजार 819 छात्र रजिस्टर्ड हुए थे। वहीं इसमें जांच के बाद 2373 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। छात्रों को प्रतिमाह 500 रुपए स्कॉलरशिप और उनके शिक्षा में खर्च होने वाली राशि सरकार देगी। इस योजना में रायपुर से 818 छात्र रजिस्टर्ड है। इनमें से 295 छात्र शासकीय स्कूल में और 523 छात्र निजी स्कूल में शिक्षा ग्रहण कर रहे है।

इन जिलों में इतने छात्र रजिस्टर्ड

बालौद-104, बलौदा बाजार- 523, बलरामपुर- 29, बस्तर- 59, बेमेतरा- 279, बिलासपुर- 38, दंतेवाड़ा-15, धमतरी- 209, दुर्ग- 685, गरियाबंद-47, जीपीएम-60, जांजगीर-422, जशपुर-132, कबीरधाम-170, कांकेर-59, कोंडागांव-30, कोरबा-199, कोरिया-82, महासमुंद-120, मुंगेली-84, नारायणपुर- 10, रायगढ़-362, राजनांदगांव-337, सुकमा-10, सूरजपुर-107 और सरगुजा-59।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -CG Health - Purush Nasbandi Pakwada

R.O :- 11660/ 5





Most Popular