छत्तीसगढ़ में जलभराव पर आया सीएम का बड़ा बयान- लोग अभी यात्रा न करें, जहां है वहां ही रहें… जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधि देख रहे हैं जलभराव की स्थिति

छत्तीसगढ़ में जलभराव पर आया सीएम का बड़ा बयान- लोग अभी यात्रा न करें, जहां है वहां ही रहें... जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधि देख रहे हैं जलभराव की स्थिति

रायपुर। प्रदेश में बीते कुछ दिनों से तेज बरसात हो रही है। छत्तीसगढ़ के अधिकांश जिलों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है। जिलों के नदी-नाले ऊफान पर हैं, आवागमन बाधित हो गया है। राजधानी रायपुर में भी जलभराव के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त है।

इस बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा बयान जारी किया है उन्होंने कहा है कि जहां तेज बारिश होगी, उसे रोका नहीं जा सकता है। इसके लिए सिस्टम काम नहीं करता है। इसलिए लोग अभी यात्रा न करें। जहां है वहां ही रहें। क्योंकि अभी ज्यादा बारिश हो रही है। जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधि है, वो जलभराव की स्थिति को देख रहे हैं।

राष्ट्रीय राजमार्गों पर कई फीट तक पानी बह रहा है। गरियाबंद को रायपुर से जोड़ने वाले राजमार्ग को बंद कर दिया गया हैं। धमतरी के बाद रायपुर-जगदलपुर हाईवे को बंद कर दिया गया है। जगदलपुर जाने के लिए रूट डायवर्ट कर वाहन निकाले जा रहे हैं। मौसम विभाग ने प्रदेश के अधिकांश जिलों में भारी बरसात और आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। सात जिलों के लिए तो रेड अलर्ट जारी किया गया है।

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र ने मुंगेली, कबीरधाम, बेमेतरा, राजनांदगांव, बालोद, दुर्ग और कांकेर जिलों और उनसे लगे जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी बरसात की चेतावनी दी है। इन इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने की संभावना भी जताई गई है। वहीं रायगढ़, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा, कोरबा, बलौदा बाजार, रायपुर, गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, नारायणपुर और कोण्डागांव जिलों में भारी वर्षा की कम स्तर की चेतावनी आई है।

कोरिया, सूरजपुर, सरगुजा, जशपुर, बलरामपुर, बस्तर, दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर जिलों में एक-दो स्थानों पर भी भारी बरसात की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग की यह चेतावनी अगले 24 घंटों के लिए है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएपपर