कोरोना: छत्तीसगढ़ के सरकारी अस्पतालों में खुद ही बनाए जाएंगे सैनिटाइजर

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सभी शासकीय अस्पतालों में खुद का बनाया हुआ सैनिटाइजर उपयोग करने की कवायद स्वास्थ्य विभाग ने शुरू कर दी है। इसके लिए खाद्य एवं औषधि विभाग अस्पतालों में सैनिटाइजर बनाने के लिए लगने वाली सामग्री उपलब्ध करा रहा है। विभाग की पहल से सभी शासकीय अस्पतालों में सैनिटाइजर की जरूरत पूरा हो सकेगा।

दरअसल कोरोना के चलते संक्रमण को देखते हुए इसकी बेहतर पहल स्वास्थ्य विभाग में जिला स्वास्थ्य सलाहकार के पद पर पदस्थ फार्मासिस्ट संदीप चंद्राकर ने की। खाद्य एवं औषधि विभाग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों में इसकी शुरुआत की जा रही है। चंद्राकर ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते सैनिटाइजर और मास्क की किल्लत बाजार में हो गई है। डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार उनके द्वारा सैनिटाइजर अस्पताल में तैयार किया गया है।

उन्होंने महज दो दिन में ही 200 लीटर सैनिटाइजर तैयार किया, जिसे पूरे जिले के शासकीय अस्पतालों में पहुंचाया गया। योजना की जानकारी देते हुए डॉ. भीमराव आंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विनीत जैन ने बताया कि आंबेडकर अस्पताल में हम जरूरत के हिसाब से सैनिटाइजर तैयार कर रहे हैं। हाल ही में हमने अस्पताल के लिए 300 लीटर सैनिटाइजर लैब में खुद ही बनाया। वर्तमान में अभी हमारे पास 2800 लीटर अल्कोहल और पड़ा है। जब हमारी जरूरत होती है, सैनिटाइजर बना लेते हैं।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।