जैश-ए-मोहम्‍मद का आतंकी दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार, ओवरग्राउंड वर्कर के तौर पर संगठन के लिए जुटाता था फंड

टीआरपी डेस्क। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शुक्रवार को दिल्ली के हवाई अड्डे पर जैश-ए-मोहम्‍मद के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया। यह आतंकवादी कतर में रहकर जैश-ए-मोहम्‍मद संगठन के लिए काम करता था, लेकिन कतर से उसे निर्वासित कर दिया गया। जिसके बाद नई दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने बताया कि मुनीब सोफी जैश-ए-मोहम्‍मद के लिए फंड जुटाने के लिए काम करता था। वह कतर में आतंकी संगठन के ओवरग्राउंड वर्कर के तौर पर काम करता था। साथ ही उन्‍हें आतंकी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराता था।

आतंकवादियों को देते आश्रय और गुप्त जानकारियां

इसके पहले स्थानीय अदालत ने सोफी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था, जिसके बाद उसे लेकर लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। पुलिस ने बताया कि कश्‍मीर के अलग-अलग जिलों में जैश-ए-मोहम्‍मद के लिए काम करने वाले कई ओवरग्राउंड वर्कर इस आतंकी संगठन के लिए फंड जुटाने का काम करते थे।

सोमवार को सुरक्षाबलों ने पुलवामा जिले से भी जैश-ए-मोहम्‍मद के दो ओवरग्राउंड वर्कर्स को गिरफ्तार किया था। अधिकारी ने बताया, “पुलिस ने सेना और CRPF के साथ मिलकर अवंतीपोरा इलाके से जैश-ए-मोहम्मद संगठन के दो आतंकी साथियों को गिरफ्तार किया, जो आतंकियों के लिए आश्रय और फंड जुटाने का काम करते थे।”

पुलोके ने बताया कि यह गिरफ्तार किए गए वर्कर अवंतीपोरा और त्राल इलाकों में आतंकवादियों के हथियार और गोला बारूद का ट्रांसपोर्ट कर रहे थे और जेएम आतंकवादियों को गुप्त जानकारी दे रहे थे।

जैश-ए-मुहम्मद (Jaish-e-Mohammed)

बता दें कि जैश-ए-मुहम्मद पाकिस्तान में स्थित एक इस्लामी उग्रवादी संगठन हैं। इसकी स्थापना मसूद अजहर नाम के पाकिस्तानी पंजाबी नेता ने साल 2000 में की थी। इसे भारत में हुए कई आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर…