JEE मेन मार्च सेशन के रिजल्ट जारी, 13 स्टूडेंट ने स्कोर किए 100 पर्सेंटाइल

JEE मेन मार्च सेशन के रिजल्ट जारी, 13 स्टूडेंट ने स्कोर किए 100 पर्सेंटाइल
image source : google

टीआरपी डेस्क। बुधवार रात नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने मार्च 2021 सेशन के JEE मेन एग्जाम का रिजल्ट घोषित कर दिया है। जिसे स्टूडेंट NTA की वेबसाइट nta.ac.in और JEE मेन की वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर चेक कर सकते हैं।

बता दें, JEE मेन की परीक्षा 6 से 18 मार्च के बीच हुई थी। जिसके लिए कुल 619638 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इस बार परीक्षा के कुल 6 दिन में ही रिजल्ट जारी कर दिया गया है। वहीं रिसल्ट के अनुसार 13 स्टूडेंट्स ने परीक्षा में 100 पर्सेंटाइल स्कोर किए हैं। इनमें से राजस्थान और तेलंगाना के 3-3 स्टूडेंट हैं। दिल्ली और महाराष्ट्र के 2-2, जबकि पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और बिहार से एक-एक स्टूडेंट शामिल हैं।

इसके अलावा बुधवार को NTA की ओर से JEE के आंसर-की भी जारी कर दिए गए है। फाइनल आंसर-की जारी होने के बाद अब स्टूडेंट्स को मार्च के रिजल्ट का इंतजार है। फरवरी अटैम्प्ट में जहां पांच सवालों को ड्रॉप किया गया था। वहीं मार्च अटैम्प्ट में भी तीन सवालों को ड्रॉप करना पड़ा है।

एजुकेशन एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि JEE मेन 16 से 18 मार्च तक प्रतिदिन दो शिफ्टों में हुआ था। ड्रॉप किए गए तीन सवालों में से दो फिजिक्स में और एक सवाल मैथेमेटिक्स से हैं। आंसर-की में इन्हें डी द्वारा प्रदर्शित किया गया है। यहां डी का मतलब ड्रॉप से हैं।

मार्च अटैम्प्ट में केमिस्ट्री विषय में कोई प्रश्न ड्रॉप नहीं किया गया है। 16 और 17 मार्च की शाम की शिफ्ट में प्रत्येक में से एक-एक प्रश्न फिजिक्स विषय से ड्रॉप घोषित किया गया, जबकि 17 मार्च की सुबह की शिफ्ट में से गणित विषय से 1 प्रश्न हटाया गया है। अन्य पारियों में पूछे प्रश्नों में किसी प्रकार की गलती नहीं है।

JEE मेन फरवरी और मार्च अटैम्प्ट की फाइनल आंसर-की का एनालिसिस किया जाए, तो केमिस्ट्री के सवालों के उत्तर अपडेटेड हैं। यानि फरवरी व मार्च में केमिस्ट्री में एक भी सवाल ड्रॉप नहीं हुआ है। फिजिक्स तथा मैथेमेटिक्स विषयों में फरवरी तथा मार्च दोनों ही अटैम्प्ट्स में गलतियां पाई गईं।

JEE मेन इस साल चार बार हो रहा है। फाइनल आंसर-की के बाद छात्रों को उनके परिणाम के बारे में पता चल गया होगा। जिन छात्रों का पेपर अच्छा नहीं हुआ है कि अब उन्हें अप्रैल और मई के अटैम्प्ट पर फोकस करना चाहिए।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर…