विधानसभाः सदन की कार्यवाही 25 मार्च तक स्थगित, भड़के विपक्षी सदस्यों ने कार्यसूची को फाड़कर फेंका, गर्भगृह में धरने पर बैठे

रायपुर। विपक्षी सदस्यों के हंगामा के बीच विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने सदन की कार्यवाही 25 मार्च तक स्थगित कर दी। अब सदन की कार्यवाही 26 मार्च को 11 बजे से शुरू होगी। प्रश्नकाल के दौरान जैसे ही इस बात की घोषणा अध्यक्ष चरणदास महंत ने की, विपक्षी सदस्यों ने इसका पुरज़ोर विरोध करते हुए हंगामा किया।

विपक्ष ने कार्यसूची को फाड़ कर गर्भगृह में फेंक दिया। फिर विपक्षी सदस्य गर्भगृह में बैठ गए।

अध्यक्ष के कार्यमंत्रणा समिति का प्रस्ताव पढ़ते समय बृजमोहन अग्रवाल अत्याधिक उत्तेजित हो गए। विपक्ष के तमाम सदस्यों ने अपनी बात नहीं सुने जाने का तीखा विरोध किया।

भाजपा सदस्य डॉ. रमन सिंह, धरमलाल कौशिक, बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, पुन्नूलाल मोहले, शिवरतन शर्मा, कृष्णमूर्ति बांधी, सौरभ सिंह, रंजना साहू, रजनीश सिंह, धरमजीत सिंह, डॉ रेणु जोगी, ननकी राम कंवर, प्रमोद शर्मा, नारायण चंदेल सदन के अंदर धरने में बैठ गए।

विपक्ष ने सत्तापक्ष के प्रस्ताव पर प्रश्नकाल स्थगित किए जाने को संसदीय इतिहास का काला दिन बताया। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष की सहभागिता उसमें शामिल हैं, इसका विपक्ष को खेद है।

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि अध्यक्ष ने पहले पूरे विधानसभा परिसर को सेनेटाइज बताया था, फिर उन्होंने कोरोना वायरस के कारण पहले प्रश्नकाल और फिर उसके बाद 25 मार्च तक सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया।

बृजमोहन अग्रवाल और अजय चंद्राकर ने कहा कि यह विधानसभा के संसदीय इतिहास का काला दिन है। हम अध्यक्ष की दी गई व्यवस्था से असंतुष्ट हैं। प्रश्नकाल चलने देना था। अगर सदन कार्यसूची से नहीं चलेगा तो आख़िर चलेगा कैसे।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करें, Twitter परFollow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।