भारत को कोरोना वैक्सीन Sputnik-V का 10 करोड़ खुराक बेचेगा रूस, नवंबर तक आ सकता है टीका

नेशनल डेस्क। कोरोना वायरस (coronavirus) से बचने के लिए सभी को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार है, इस बीच अच्छी खबर मिली है, सबसे पहले कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा करने वाले देश रूस ने वैक्सीन Sputnik-V अपने नागरिकों के लिए जारी कर दी है।

भारत में कोरोना का 10 करोड़ टीका बेचने के लिए रूसी निर्माता रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (RDIF) से करार किया है। यह टीका नवंबर तक भारत में आ सकता है। इस खबर के आने के बाद बीएसई पर डॉ. रेड्डीज का शेयर 181 रुपये की मजबूती के साथ 4624.45 पर पहुंच गया।

रूस इस महीने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) आम नागरिकों के लिए जल्द ही क्षेत्रीय आधार पर वैक्सीन की डिलिवरी करने की योजना बना चुका है जिसके तहत रूस स्पूतनिक-V की 100 मिलियन खुराक देने को तैयार है। हालांकि भारत की रेग्यूलेटरी की सहमति मिलनी बांकी है।

‘ Sputnik-V ‘ सुरक्षित पाया गया

कंपनी ने कहा कि रूसी वैक्सीन एडिनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित है और दशकों तक इस पर 250 से अधिक क्लिनिकल स्टडीज हो चुकी हैं। इसे सुरक्षित पाया गया है और इससे दीर्घकालिक दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिले हैं। ‘ Sputnik-V ‘ को रूस की गामालेया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर इपीडेमीलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉ़जी और रूस प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) ने विकसित किया है।

नवंबर तक भारत में उपलब्ध हो सकता है टिका

RDIF के सीईओ किरिल दमित्रिव ने बताया कि Sputnik-V वैक्सीन एडिनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित है और अगर इसका ट्रायल सफल होता है तो यह नवंबर तक भारत में उपलब्ध होगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार RDIF की साथ ही चार अन्य भारतीय कंपनियों के साथ भी बातचीत चल रही है जो भारत में यह वैक्सीन बनाएंगी। RDIF) ने एक बयान में कहा कि उसके और डॉ. रेड्डीज के बीच हुआ समझौता इस बात का प्रमाण है कि विभिन्न देशों और संस्थाओं के बीच यह समझ बढ़ रही है कि कोरोनावायरस के लोगों को बचाने के लिए कई वैक्सीन पर काम करना जरूरी है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi Newsके अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebookपर Like करें, Twitterपर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

Leave a Reply