संबित पात्रा का विपक्ष पर पलटवार, कहा- वैक्सिन पर भ्रम फैलाकर कांग्रेस ने किया महापाप

संबित पात्रा का विपक्ष पर पलटवार, कहा- वैक्सिन पर भ्रम फैलाकर कांग्रेस ने किया महापाप
image source : google

टीआरपी डेस्क। कोरोना वैक्सीन को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच घमासान जारी है। बता दें, कांग्रेस (Congress) ने इस बार कोवैक्सिन को (Covaxin) लेकर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसे लेकर BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने एक बार फिर कांग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही कांग्रेस की ओर से फैलाए जा रहे इस भ्रम को दूर करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा, “जिस तरह का भ्रम भारत में निर्मित कोवैक्सिन को लेकर आज कांग्रेस पार्टी ने सोशल मीडिया और प्रेस कांफ्रेंस करके उनके प्रवक्ता पवन खेड़ा ने फैलाया है, वो महापाप है।”

पात्रा ने कहा कि ‘अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में पवन खेड़ा और कांग्रेस के सोशल मीडिया के नेशनल कन्वीनर गौरव पांधी ने यह आरोप लगाया है कि कोवैक्सिन में गाय के बछड़े का सीरम होता है। यहां तक कि सोशल मीडिया पर यह भी कहा गया कि गाय और बछड़े को मारकर यह वैक्सीन तैयार की गई है जबकि स्वास्थ्य मंत्रालय और वैज्ञानिकों ने साफ तौर कहा है कि कोवैक्सिन में किसी भी प्रकार का गाय या बछड़े का सीरम नहीं मिला हुआ है। यह वैक्सीन पूरी तरह से सेफ है और इसमें किसी भी प्रकार का भ्रम नहीं है।’

2 बातों के लिए कांग्रेस को रखा जायेगा याद

पात्रा ने आगे कहा कि “भारत और पूरी दुनिया कोरोना महामारी से लड़ रही है और वैक्सीनेशन के जरिए ही लड़ाई को आगे बढ़ाया जा रहा है। ऐसे में भी देश में कुछ राजनीतिक पार्टियां ऐसी हैं, खासतौर पर कांग्रेस जो इस वैक्सीनेशन प्रोग्राम में और भी देरी करना चाहती है। जिसके लिए वह डर का माहौल तैयार करना चाहती हैं, भ्रम फैलाना चाहती है। ऐसा करके कांग्रेस ने महापाप किया है। कांग्रेस 2 बातों के लिए याद रखी जाएगी, वैक्सीन के बारे में संदेह उत्पन्न करने के लिए और वैक्सीन को बर्बाद करने के लिए।”

इसके साथ ही उन्होंने गांधी परिवार से सवाल करते हुए कहा, “आज हम सोनिया जी, राहुल जी और प्रियंका गांधी से पूछना चाहते हैं कि आप तीनों बताएं कि आपने वैक्सीन का अपना पहला और दूसरा डोज कब लिया है? क्या गांधी परिवार ने टीका लगवाया है या नहीं? गांधी परिवार को कोवैक्सिन पर विश्वास है या नहीं? ये सवाल पूरे हिंदुस्तान का है।”

तथ्यों को गलत ढंग से किया गया पेश- स्वास्थ्य मंत्रालय

बता दें, कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने बीते दिनों एक टेलीविजन डिबेट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोरोना से हुई मौतों का सही आंकड़ा देश के सामने पेश करने की मांग की। खेड़ा ने कहा कि कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या की देशव्यापी जांच होनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकार की लापरवाही से लाखों लोगों की जान गई। कोरोना काल में सरकार ने दो अपराध किए। एक तो ऑक्सीजन की कमी और वैक्सीन की किल्लत के चलते लोगों ने दम तोड़ दिया। वहीं दूसरा, कोविड से हुई मौतों के आंकड़े छिपाए गए। इन दोनों अपराधों के लिए आखिर जिम्मेदार कौन है? इसकी जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए।

साथ ही कांग्रेस के नेशनल कॉर्डिनेटर गौरव पांधी ने बुधवार को यह दावा किया कि कोवैक्सिन बनाने में गाय के बछड़े के सीरम का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा पांधी ने एक RTI के जवाब में मिले दस्तावेज शेयर किए। जिसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बुधवार को एक बयान जारी करके कहा कि सोशल मीडिया की कुछ पोस्ट में तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर और गलत ढंग से पेश किया गया है। उन्होंने कहा कि टीका बनाने के लिए बछड़े के सीरम का बिलकुल भी इस्तेमाल नहीं किया जाता।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर