इस जिले ने कर दिया कमाल: महुआ से हर्बल सेनेटाइजर बनाने वाला देश का पहला जिला बना जशपुर

जशपुर। महुआ से हर्बल सेनेटाइजर बनाने वाला  जशपुर देश का पहला जिला बन गया है। यहां जिला प्रशासन और युवा वैज्ञानिक समर्थ जैन ने महुआ को परिष्कृत कर हर्बल सेनेटाइजर बनाया है जो कि पूरी तरह सुरक्षित है और उपयोगी है। कलेक्टर निलेश महादेव क्षीरसागर के पहल पर इस हर्बल सेनेटाइजर बनाने की तकनीक को समर्थ ने विकसित किया है। जिला प्रशासन जशपुर अब इस तकनीक के द्वारा हर्बल सैनिटाइजर का निर्माण स्वसहायता समूह के द्वारा कर रहा है। यह उन्नत क्वालिटी का सैनिटाइजर है।


वनोपज से हर्बल सैनिटाइजर का निर्माण

जिला प्रशासन और वन विभाग के संयुक्त प्रयास से स्वयंसेवी सहायता समूह के द्वारा वनोपज से हर्बल सैनिटाइजर का निर्माण किया गया है इसका निर्माण अभी लघु पैमाने पर किया गया है। जिसका व्यापक पैमाने पर उत्पादन कर पूरे जशपुर जिले में सभी लोगों तक सैनिटाइजर पहुंचाने का व्यवस्था जिला प्रशासन कर रहा है। अभी हर्बल सैनिटाइजर का अल्प मात्रा में निर्माण किया गया है।

राज्य की सीमा में ड्यूटी कर रहे सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों को किया वितरण

बता दें कि मंगलवार को इस सैनिटाइजर को झारखंड राज्य की सीमा में ड्यूटी कर रहे सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों एवं कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ड्यूटी में तैनात पुलिस के जवानों को वितरण किया गया है।

इस अवसर पर जिला कलेक्टर निलेश क्षीरसागर, पुलिस अधीक्षक, शंकर लाल बघेल वन मंडल अधिकारी कृष्ण जाधव उप वन मंडल अधिकारी सुरेश गुप्ता युवा वैज्ञानिक समर्थ जैन एवं स्व सहायता समूह के सदस्य उपस्थित रहे।

वनोपज महुआ से निर्मित यह सैनिटाइजर उन्नत क्वालिटी का है और इससे कुछ साइड इफेक्ट भी नहीं है। इस सैनिटाइजर का ज्यादा से ज्यादा उत्पादन किया जाए और जिले के सभी लोगों को बांटा जाएगा ताकि कोरोना कोविड 19 से बचने में सहायता मिलेगी।

  • निलेश महादेव क्षीरसागर,
    कलेक्टर जशपुर।
  • Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।