पीलिया जांच हेतु कुशालपुर में लगा स्वास्थ्य शिविर, 100 से ज्यादा लोगों की हुई जांच

रायपुर। राजधानी के कुशालपुर में पीलिया का प्रकोप फैल रहा है। शुक्रवार को इस क्षेत्र से 8 बच्चे ऐसे मिले जिनमें पीलिया के प्रारंभिक लक्षण दिखाई दिए। जिसके बाद इस क्षेत्र के लोगों को गुस्सा निगम अधिकारियों के प्रति बढ़ गया है। उनका आरोप है कि नगर निगम द्वारा उनकी सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। कईबार गंदे पानी की शिकायत के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं हो पाती।

नागरिकों के बढ़ते आक्रोश के चलते आनन-फानन में नगर निगम का अमला सुबह कुशालपुर पहुंचा। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लोगों की जांच शुरू की। चिकित्सकों का कहना है कि लगाकर बर्फ गोले, आइसक्रीम और गंदे पानी की सप्लाई की वजह से बीमारी फैली है। नगर निगम द्वारा नालियों से होकर गुजरने वाले पाइप लाइन को भी बदलने की प्रकिया शुरू हो गई है। जांच के दौरान इस क्षेत्र में 8 बच्चे पीलिया से ग्रसित हैं। जिनमें से दो की हालत गंभीर है।

100 से ज्यादा लोगों की जांच
मोहल्ले में रहने वाले लोगों का कहना है कि पीलिया इसलिए भी मोहल्ले में फैला है क्योंकि जो नालियां हैं। उनमें जो पाइप लगाया गया है उससे लीकेज होता रहता है। लोगों का कहना है कि इससे बहुत परेशानी होती है। यहां से बगल में लगा हुआ एक तालाब भी है। इस क्षेत्र के लोगों का कहना है कि इस क्षेत्र में एक तालाब है। जहां घरों की नालियां तालाब में जाकर खुलती हैं। इससे मोहल्ले का गंदा पानी उसी तालाब में जाकर जमा होता है। यह भी एक बड़ा कारण है जिसके कारण इस क्षेत्र में पीलिया फैला है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button