विधानसभा के मानसून सत्र में अब तक लगे कुल 108 सवाल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा का मानसून सत्र 12 जुलाई से शुरू हो रहा है। इसके लिए पक्ष-विपक्ष के विधायकों ने जमकर सवाल लगाना शुरू कर दिया है। विधानसभा सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार, अब तक 108 सवाल लगाए जा चुके हैं। सत्ता पक्ष के विधायक भी ज्यादा से ज्यादा सवाल लगा रहे हैं।

मानसून सत्र के लिए 73 तारांकित और 35 अतारांकित प्रश्न लगाए गए हैं। विधानसभा का सत्र 12 से 19 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान छह दिन विधानसभा की कार्यवाही चलेगी। विधानसभा सत्र छोटा होने के कारण सभी विधायक अपने क्षेत्र के मुद्दों को सवाल में उठाकर सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।

विधायक दल की बैठक के बाद आई तेजी:

विधानसभा सचिवालय के आला अधिकारियों ने बताया कि अधिकांश प्रश्न स्थानीय समस्याओं से जुड़े हैं, जिसमें किसानों के खाद बीज से लेकर पेयजल के लिए नल कनेक्शन, सड़क निर्माण से जुड़े हुए हैं।

भाजपा ने विधायक दल की बैठक में ज्यादा से ज्यादा सवाल लगाकर सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है। इसको देखते हुए भाजपा विधायकों ने अब महत्वपूर्ण विषयों पर सवाल लगाना शुरू किया है।

14 जून तक विधानसभा सचिवालय में 30 तारांकित और नौ अतारांकित प्रश्न लगाए गए थे। 16 जून को भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद सवाल लगाने में तेजी आई है।

पांचवीं विधानसभा के पहले सत्र जनवरी से मार्च तक सबसे ज्यादा सवाल भाजपा विधायक अजय चंद्राकर और बसपा विधायक केशव चंद्रा ने पूछा था।

दोनों विधायकों ने 76-76 सवाल पूछे। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक बृजमोहन अग्रवाल, सौरभ सिंह, अरुण वोरा, दलेश्वर साहू ने 75 सवाल लगाए थे। वहीं, विनोद चंद्राकर ने 74, धनेंद्र साहू और संतराम नेताम ने 73 सवाल लगाए थे। प्रथम सत्र में 66 विधायकों ने दो हजार 79 सवाल लगाए थे।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button