मुकेश गुप्ता ने आईजी-एसपी को लिखा पत्र, मिक्की मेहता प्रकरण नस्तीबद्ध हो चुका है

रायपुर। निलंबित डीजीपी मुकेश गुप्ता ने मिक्की मेहता प्रकरण से खुद को पाक साफ बताया है। उन्होंने इस संबंध में आईजी-एसपी और अन्य अफसरों को पत्र भेजा है। पत्र में उल्लेख है कि प्रकरण की जांच हो चुकी है और इसको नस्तीबद्ध किया जा चुका है। पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर की शिकायत पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निलंबित डीजीपी मुकेश गुप्ता के खिलाफ जांच बिठाई है।

रिपोर्ट के आधार पर मुकेश गुप्ता के खिलाफ कार्रवाई

जांच का जिम्मा डीजी (जेल) गिरधारी नायक को दिया गया। शिकायत में मिक्की मेहता की संदिग्ध परिस्थियों में मौत का विशेष उल्लेख है। यह भी बताया गया कि मुकेश गुप्ता ने एक पत्नी के रहते दूसरी शादी की थी और यह सिविल सेवा आचरण नियमों के खिलाफ है। बताया गया कि जांच अधिकारी गिरधारी नायक ने सभी बिंदूओं पर जांच कर अपनी रिपोर्ट राज्य शासन को सौंपी है। जांच रिपोर्ट का गृह विभाग परीक्षण कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक जांच अधिकारी ने अधिकांश शिकायतों को सही पाया है और जल्द ही जांच रिपोर्ट के आधार पर मुकेश गुप्ता के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। इसी बीच, मुकेश गुप्ता ने आईजी-एसपी और अन्य अफसरों को पत्र भेजा है। यह पत्र डाक से भेजा गया है।

प्रकरण नस्तीबद्ध हो चुका है

सूत्रों के मुताबिक पत्र में मिक्की मेहता प्रकरण को लेकर सूचना दी है। यह कहा गया कि मिक्की मेहता प्रकरण की जांच हो चुकी है। यह मामला अदालत में भी गया था। प्रकरण नस्तीबद्ध हो चुका है। कहा जा रहा है कि गुप्ता ने सरकार की संभावित कार्रवाई को देखते हुए पत्र भेजा है। दूसरी तरफ, नान-फोन टैपिंग प्रकरण पर मुकेश गुप्ता के खिलाफ जांच-पड़ताल जारी है। दो बार उनका बयान भी लिया जा चुका है। इसके अलावा वो अब कार्यपालन यंत्री आलोक अग्रवाल के खिलाफ जांच-पड़ताल में भी गड़बड़ी को लेकर भी घिर गए हैं। आलोक अग्रवाल के भाई पवन अग्रवाल ने ईओडब्ल्यू को ज्ञापन भी दिया है। जिसमें कई तरह की अनियमितताओं का खुलासा किया गया है। ईओडब्ल्यू इस प्रकरण पर भी मुकेश गुप्ता से जल्द पूछताछ करेगी।

Back to top button