बाड़मेर में तूफान से पंडाल गिरा 15 की मौत, 50 घायल

बाड़मेर। जिले के बालोतरा के पास जसोल में रविवार को तेज तूफान से कथा आयोजन का पंडाल गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गए। घायलों को सरकारी व निजी वाहनों से अस्पताल में पहुंचाया जा रहा है।

कथा के आयोजन में करीब 1500 से अधिक लोग मौजूद थे। हादसे के राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। पुलिस महानिरीक्षक रेंज जोधपुर सचिन मित्तल ने 12 लोगों के मौत की पुष्टि की है।

कैसे हुआ हादसा:

आईजी जोधपुर रेंज सचिन मित्तल ने बताया कि श्री राणी भटियाणी मंदिर संस्थान जसोल के तत्वावधान में राम कथा का आयोजन एक दिन पहले शुरू हुआ। जहां कथाकार मुरलीधर महाराज प्रवचन सुना रहे थे।

रविवार को अचानक तेज आंधी आने से पण्डाल गिर गया और पण्डाल में दबने से 15 लोगों की मौत हो गई। अचानक हुए घटनाक्रम के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। वहीं कई लोग पण्डाल में विद्युत लाइन की चपेट में आने से घायल हो गए।

हादसें के बाद मौके पर बड़ी संख्या में प्रशासनिक अमले के अधिकारी पहुंचे और बचाव कार्य शुरू हुआ। घायलों को नाहटा अस्पताल बालोतरा पहुंचाया। जहां घायलों का उपचार चल रहा है।

मंत्रियों ने दिए बेहतर उपचार के निर्देश:

हादसे की जानकारी के बाद शहर के निजी चिकित्सालयों के चिकित्सक बड़ी संख्या में सरकारी चिकित्सालय पहुंचे और घायलों का उपचार शुरू कर दिया है। हादसे की जानकारी पर पूर्व मंत्री अमराराम, नगर परिषद रतन खत्री, भाजपा जिला अध्यक्ष महेश चौहान सहित विभिन्न संगठनों संस्थाओं के पदाधिकारी चिकित्सालय पहुंचे। घटना की जानकारी ली। वहीं चिकित्सकों को बेहतर उपचार व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

हादसे में इनकी हुई मौत :

हादसें में देवीलाल पुत्री भीमाराम खत्री, जब्बरसिंह गोलिया, केवलदास संत जसोल, पेमाराम पुत्र कुंभाराम जसोल, चम्पालाल पालीवाल, अविनाश जोधपुर, इन्द्रसिंह पुत्र मोतीसिंह जागसा, सांवलदास संत जसोल, मलसिंह पुत्र उम्मेदसिंह प्रतापनगर, सुंदर देवी पत्नी जेठाराम माली, रमेश पुत्र राठी जी, नारंगी देवी पुत्र जोगाराम की मौत हो गई।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करेंTwitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button