दुर्दशा.. 13 साल में सरकारी संस्थान पर खर्चे 24 करोड़, एक भी पढ़कर न निकला!

रायपुर। छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग के होटल प्रबंधन संस्थान ( Chhattisgarh Tourism Department’s Hotel Management Institute ) की दुर्दशा का मामला मंगलवार को विधानसभा में उठा। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ( Former CM Ajit Jogi ) ने सवाल उठाया कि 13 साल में संस्थान पर करीब 24 करोड़ खर्च हो चुके हैं। मगर, एक भी व्यक्ति यहां से शिक्षित होकर नहीं निकला है।

इसपर मंत्री ने सुझाव दिया कि नोएडा के राष्ट्रीय संस्थान से यहां के प्रबंधन संस्थान को मान्यता दिलाने के लिए पहल करनी चाहिए। हालांकि पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू ( Tourism Minister Tamradhwaj Sahu ) ने अपव्यय को माना और भरोसा दिलाया कि जो भी बेहतर हो सकेगा, वह किया जाएगा।

प्रश्नकाल में जनता कांग्रेस के सदस्य श्री जोगी ने यह मामला उठाया है। इसके जवाब में पर्यटन मंत्री ने बताया कि होटल प्रबंधन खानपान तकनीकी एवं अनुप्रयुक्त पोषाहार संस्थान का पंजीयन रजिस्ट्रार, फर्म एवं सोसायटी रायपुर में 6 जून 2006 को हुआ था। संस्थान में अब तक शिक्षण कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है।

निर्माण कार्यों पर 20 करोड़ 71 लाख खर्च

उन्होंने यह भी बताया कि होटल प्रबंधन संस्थान ( Hotel Management Institute ) के भवन निर्माण कार्यों पर कुल सकल राशि 20 करोड़ 71 लाख खर्च किए गए हैं। लैब उपकरण सेटअप आदि पर कोई खर्च नहीं हुआ है। पर्यटन मंत्री ने यह भी बताया कि संस्थान की स्थापना से लेकर दिसंबर 2018 तक वेतन भत्तों के मद में पूर्ण राशि 3 करोड़ 31 लाख से अधिक का भुगतान किया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने मंत्री के जवाब को शर्मसार करने वाला करार दिया और कहा कि 24 करोड़ खर्च होने के बाद भी एक भी व्यक्ति शिक्षित होकर नहीं निकला है।

 

 

उन्होंने कहा कि संस्थान को मान्यता भी नहीं है और इसके लिए नोएडा के राष्ट्रीय संस्थान से मान्यता दिलाने के लिए पहल होनी चाहिए ताकि इसका उपयोग हो सके। पर्यटन मंत्री श्री साहू ने कहा कि हाईकोर्ट में प्रबंधन संस्थान में भर्ती और अन्य विषयों को लेकर प्रकरण चल रहा है। कोर्ट ने इस पर रोक लगा रखी है। जल्द से जल्द प्रकरण के निराकरण कोशिश की जा रही है ताकि मान्यता आदि दिलाने की दिशा में कार्रवाई की जा सके।

पूर्व मुख्यमंत्री श्री जोगी ( Former CM Ajit Jogi ) ने इससे संतुष्ट नहीं हुए और कहा कि कोर्ट ने मान्यता दिलाने के लिए कार्रवाई पर रोक नहीं लगाई है। सरकार को नोएडा के राष्ट्रीय संस्थान से मान्यता दिलाने के लिए पहल करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मान्यता के लिए कैटरिंग लैब आदि का निर्माण करना होगा। पर्यटन मंत्री ने भरोसा दिलाया कि जो भी बेहतर हो सकेगा, किया जाएगा।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें और Twitter पर Follow करें 
एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें

Back to top button