रायपुर। छत्तीसगढ़ में साइबर क्राइम बढ़ते ही जा रहा है। इस तौर पर राजधानी रायपुर से एक खबर मिल रही है। दरअसल केवायसी ( KYC ) का दुरुपयोग कर फर्जी तरीके से फर्म का खाता खोलकर विदेशों से करोड़ों का ट्रांजेक्शन कर ग्राहक को चुना लगाने वाले बैंक मैनेजर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है।

पीड़ित की शिकायत पर मौदहापारा थाने में पुलिस ने आरोपी बैंक मैनेजर मनीष कदम के खिलाफ धोखाधड़ी का एफआईआर दर्ज किया है।

जानकारी के मुताबिक पुरानी बस्ती निवासी प्रीटिंग प्रेस कारोबारी अजय यदु ने साल 2011 में कृष्णा काम्पेलक्स, कचहरी चौक स्थित इंडसइंड बैंक में खाता खोला था। इस दौरान उसने अपनी सभी जरूरी दस्तावेज और 10 हजार रूपये जमा कराये थे, जिसके बाद साल 2019 में प्रवर्तन निर्देशालय ईडी के ऑफिस से अजय यदु को नोटिस मिला।

पीड़ित ने बैंक जाकर पता किया तो पता चला कि कारोबारी की मां सम्लेश्वरी प्रीटिंग प्रेस के नाम पर गुमास्ता समेत कई दस्तावेजो में फर्जीवाडा कर कन्हैया सेल्स फर्म के नाम का खाता खोला गया है और इसमें हांगकांग, कनाडा से होम प्रोडेक्ट बुलवाने समेत दुसरे कई देशो से करीब ढ़ाई करोड़ रूपये के लेनदेन किया गया है।

इसके बाद इस मामले की शिकायत पीड़ित ने मौदहापारा थाने में की, जिसके बाद पता चला की ये पूरा फर्जीवाड़ा बैंक के मैनेजर मनीष कदम ने की है। फर्जीवाड़े के बाद से ही बैंक मैनेजर नौकरी छोड़कर फरार है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। वहीँ इस मामले में मौदहापारा थाना पुलिस ने बैंक मैनेजर मनीष कदम के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जाँच की जा रही है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर…

https://theruralpress.in/