Saturday, May 21, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeTRP Newsबीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट के घर मिले 14 करोड़ कैश, मास्टरमाइंड निकला...

बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट के घर मिले 14 करोड़ कैश, मास्टरमाइंड निकला सवा सौ करोड़ की ठगी का

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

गुरुग्राम। हरियाणा के गुरुग्राम में बीएसएफ के एक डिप्टी कमांडेंट के घर और अन्य ठिकानों पर छापेमारी से बेशुमार दौलत का खुलासा हुआ है। छापेमारी में अब तक उसके घर से 1 करोड़ के गहने और करीब 14 करोड़ रुपये कैश बरामद हो चुके हैं। आरोप है कि मानेसर में एनएसजी में पोस्टिंग के दौरान उसने खुद को आईपीएस अफसर बताकर लोगों पर रौब गांठा और टेंडर दिलवाने के नाम पर लोगों से 125 करोड़ रुपये से ज्यादा ठग लिए।

नोट गिनने में घंटों लगे

बीएसएफ में तैनात एक डिप्टी कमांडेंट के घर इतनी बेशुमार दौलत मिलने से अधिकारी भी भौंचक हैं। करोड़ों रुपये की नकदी के बंडल गिनने में अधिकारियों को कई घंटे बिताने पड़े। गिनती के बाद पता चला कि ये करीब 14 करोड़ रुपये नकद हैं। साथ में 1 करोड़ रुपये से ज्यादा के गहने जेवरात भी बरामद किए गए हैं।

महंगी गाड़ियों का मालिक

डिप्टी कमांडेंट के घर से मर्सिडीज़ और बीएमडब्लू जैसी 7 महंगी गाड़िया भी बरामद की गई हैं। इन गाड़ियों की कीमत भी करोड़ों रुपये में आंकी जा रही है।

पति-पत्नी और बहन भी गिरफ्तार

गुरुग्राम पुलिस में एसीपी क्राइम प्रीत पाल सिंह ने बताया कि पुलिस ने डिप्टी कमांडेंट प्रवीण यादव, उसकी पत्नी ममता यादव, बहन रितु और एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, प्रवीण यादव ने कई लोगों से 125 करोड़ से ज्यादा की ठगी की है। इस ठगी को उसने तब अंजाम दिया जब वो मानेसर में एनएसजी में डेपुटेशन पर तैनात था। उसने खुद को आईपीएस अफसर बताकर एनएसजी में कंस्ट्रक्शन से जुड़े ठेके दिलवाने के नाम पर ठेकेदारों से करोड़ो रुपये रिश्वत में लिए।

NSG के नाम पर बनाया फर्जी खाता

ठगी का पूरा पैसा प्रवीण यादव ने एनएसजी के नाम से बने एक फ़र्ज़ी अकाउंट में ट्रांसफर करवाया था। ये अकाउंट प्रवीण की बहन ऋतु यादव ने खुलवाया था, जो एक्सिस बैंक में मैनेजर है। पुलिस के मुताबिक, प्रवीण यादव ने शेयर मार्केट में 60 लाख का घाटा खाया, उस घाटे को पूरा करने के लिए उसने ठगी का खेल खेला।

नौकरी से कर दिया था रिजाइन

पुलिस के अनुसार, प्रवीण की पोस्टिंग इन दिनों अगरतला में थी, लेकिन उसने इतना पैसा कमा लिया था कि कुछ दिन पहले उसने रिजाइन लेटर लिखा था, जिसे अब स्वीकार कर लिया गया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर आयकर विभाग ने छापेमारी की थी, इसमें 200 करोड़ रुपये से ज्यादा नकद बरामद किए गए थे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

R.O :- 12027/152





Most Popular