भारत, यूएई ने मुक्त व्यापार समझौते पर किए हस्ताक्षर, 5 वर्षों में व्यापार दोगुना होकर 100 अरब डॉलर होने की उम्मीद

नई दिल्ली। भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अबू धाबी क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद के बीच एक वर्चुअल शिखर सम्मेलन के दौरान एक मुक्त व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिससे अगले पांच वर्षों में लगभग दो-तरफा व्यापार 100 बिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है।

दोनों पक्षों ने एक संयुक्त बयान जारी किया जिसमें संबंधों के भविष्य के बारे में बताया गया है। इसमें समुद्री सहयोग में वृद्धि और आतंकवाद से लड़ने के लिए संयुक्त कदम और व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के उपाय शामिल हैं।

भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने कारोबारी संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के लिये समग्र आर्थिक गठजोड़ समझौते (सीईपीए) पर हस्ताक्षर किये तथा सम्पूर्ण आपसी सहयोग एवं संबंधों को बढ़ाने के लिये भविष्य का खाका पेश किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अबू धाबी के युवराज एवं यूएई के सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान के बीच डिजिटल माध्यम से हुई बैठक के बाद यह समझौता हुआ। कारोबारी समझौते पर भारत की ओर से वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और यूएई के आर्थिक मामलों के मंत्री अब्दुल्ला बिन तौक अल मारी ने हस्ताक्षर किए।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने भारत एवं यूएई के संबंधों के विभिन्न आयामों की चर्चा की और हाल में यूएई में हुए आतंकी हमलों की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि भारत और यूएई आतंकवाद के विरुद्ध कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे।

Back to top button