आतंकवादी संगठन आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में वायु सेना का जवान गिरफ्तार

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी करने के आरोप में भारतीय वायु सेना के एक जवान को गिरफ्तार किया है। आरोपी का पहचान देवेंद्र शर्मा के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि आरोपी भारतीय सेना से जुड़ी कई जानकारियां पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं को पहुंचा रहा था। इसके बदले उसे हवाला के जरिये रकम मिल रही थी।

मिली जानकारी के मताबिक सुब्रतो पार्क स्थित वायु सेना के रिकार्ड कार्यालय में सार्जंट देवेंद्र शर्मा को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हनी ट्रैप में फंसाकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ देवेंद्र शर्मा से वायु सेना से संबंधित रक्षा प्रतिष्ठानों और अधिकारियों से जुड़ी संवेदनशील जानकारी व दस्तावेज लेती थी। जासूसी करने के एवज में देवेंद्र शर्मा को रुपये भी दिए जाते थे।
यह भी पता चता है कि आरोपित भारतीय वायु सेना के जवान में हनीट्रैप के जरिये जाल में फंसाया गया और फिर सेना से जुड़ी जानकारी हासिल की गईं।  

दिल्ली पुलिस से सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी के शक में काफी समय से देवेंद्र शर्मा पर नजर रखी जा रही थी। इसके बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अब जाकर जासूसी के आरोप में भारतीय वायुसेना के जवान देवेंद्र शर्मा को गिरफ़्तार किया है। बताया जा रहा है  कि  इस पूरे मामले में पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने का अंदेशा है।

आरोप है कि देवेंद्र शर्मा को हनी ट्रैप में फंसा कर वायु सेना से जुड़ी संवेदनशील जानकारी जुटाने में प्रयास किया गया है। जैसे कितने रडार कहां-कहां तैनात हैं। उच्च अधिकारियों के नाम व पते मांगे गए। पुलिस ने आरोपी देवेंद्र शर्मा को 6 मई को खुफिया एजेंसी के इनपुट पर गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों के अनुसार, देवेंद्र शर्मा को धौला कुआं से गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल दिल्ली पुलिस को आरोपित देवेंद्र शर्मा की पत्नी के बैंक एकाउंट में कुछ संदिग्ध ट्रांसेक्शन भी मिली हैं।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, देवेंद्र शर्मा कानपुर का रहने वाला है। एक महिला प्रोफाइल से उसकी फेसबुक पर दोस्ती हुई। देवेंद्र शर्मा को फोन के जरिये ट्रैप में लिया गया और फिर उससे संवेदनशील जानकारियां जुटाने की कोशिश की गई।  जिस मोबाइल फोन नम्बर से वह महिला देवेंद्र शर्मा से बात करती थी, वह भारतीय सर्विस प्रोवाइडर का नम्बर है।

पुलिस उस महिला का पता लगाने का प्रयास कर रही है। शक है कि इस पूरे काम मे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ का हाथ है। सिर्फ पुष्टि होने का इंतजार है, क्योंकि इससे पहले भी भारतीय सेना के कई अफसर-कर्मचारी गिरफ्तार हो चुके हैं, जो आइएसआइ के लिए जासूसी करते थे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button