Saturday, May 21, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeक्राइमआर.टी.ओ परिसर में खड़ी ट्रकें एक महीने में तीसरी बार आग के...

आर.टी.ओ परिसर में खड़ी ट्रकें एक महीने में तीसरी बार आग के हवाले, साज़िश की जताई जा रही है आशंका

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

रायपुर। राजधानी के आरटीओ ऑफिस परिसर में खड़ी ट्रकें कल फिर देर रात आगजनी का शिकार हो गयीं। आरटीओ परिसर में खड़ी ट्रकों में आग लगने का ये पिछले एक महीने में तीसरा मामला है। इससे पहले भी 19 अप्रैल और 5 मई को आरटीओ परिसर में खड़ी ट्रक में आग लग चुकी है।

आरटीओ की सुरक्षा व्यवस्था सवालों के घेरे में

आरटीओ परिसर में लगातार हो रही आगजनी के कारण यहाँ की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। दरअसल आरटीओ परिसर काफी लम्बे चौड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहाँ के विस्तृत क्षेत्र का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें अलग अलग दिशाओ से प्रवेश हेतु तीन एंट्री पॉइंट्स बनाये गए हैं। और इतने बड़े आरटीओ की सुरक्षा हेतु केवल एक सुरक्षा गार्ड को रखा गया है जो पर्याप्त नहीं है।

अग्निशामक यंत्रों का नहीं हो पाता उपयोग

आगजनी की घटनाओ पर तत्काल नियंत्रण हेतु आरटीओ द्वारा हाल ही में नए अग्निशामक यन्त्र मंगाए तो गए हैं। लेकिन इन यंत्रो को चोरी के डर से कार्यालय के अंदर रखा जाता है और दफ्तर के दरवाज़े पर कार्यालयीन समय खत्म होने पर ताला लग जाता है। आगजनी होने पर इन अग्निशामक यंत्रों तक पहुंचने के लिए आरटीओ दफ्तर के दरवाज़ों का ताला तोडना पड़ेगा। जिस कारण इन अग्निशामक यंत्रों का इस्तेमाल परिसर में आग लगने पर नहीं हो पता है।

साज़िश की है आशंका

आरटीओ परिसर में खड़ी रहने वाली ट्रकों में आगजनी की घटनाओ के पीछे किसी षड़यंत्र की आशंका जताई जा रही है। दरअसल 5 मई को यहां ट्रकों में लगने वाली आग का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इस फुटेज में ट्रकों में आग लगा कर दो लोगो को कार से भागते हुए देखा जा सकता है। जिसके बाद से वाहनों में आग लगाने वालों की तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है। लेकिन सवाल ये भी उठता है कि आग लगाने वाले लोगो का इस आगजनी के पीछे क्या उद्देश्य हो सकता है ? क्या यहां केवल असामाजिक तत्वों द्वारा बदमाशी की मंशा से आग लगाई गयी थी या किसी सोची समझी साजिश के तहत ट्रको को आग के हवाले किया जा रहा है।

नगर निगम के पास भी नहीं है अपनी दमकल की गाडी

रावाभाठा में स्थित आरटीओ ऑफिस बिरगांव नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत आता है। आपको जान कर आश्चर्य होगा कि नगर निगम होने के बावजूद बिरगांव नगर निगम प्रशासन के पास स्वयं का दमकल वाहन नहीं है। औधोगिक क्षेत्र होने के कारण कुछ बड़े औद्योगिक संस्थानों के पास स्वयं के दमकल वाहन हैं और इन्ही के भरोसे बिरगांव की आगजनी से सम्बंधित सुरक्षा छोड दी गयी है। आरटीओ में हुई तीनो आगजनी की घटनाओ पर काबू पाने के लिए इन्ही औधोगिक संस्थानों की दमकल गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया था।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

R.O :- 12027/152





Most Popular